वैक्सीन के 5250 डोज आए, सिर्फ जिला अस्पताल में लगे टीके

जिले में कोविड-19 से बचाव के लिए भेजे गए वैक्सीन डोज शनिवार को खत्म हो जाने की वजह से कई केंद्रों से लोगों को निराश लौटना पड़ा था। इसके बाद शनिवार की रात शिवपुरी को कोवीसिल के 5250 डोज भेज दिए गए।

By: rishi jaiswal

Published: 04 Apr 2021, 11:48 PM IST

शिवपुरी. जिले में कोविड-19 से बचाव के लिए भेजे गए वैक्सीन डोज शनिवार को खत्म हो जाने की वजह से कई केंद्रों से लोगों को निराश लौटना पड़ा था। इसके बाद शनिवार की रात शिवपुरी को कोवीसिल के 5250 डोज भेज दिए गए। चूंकि वैक्सीन कम है, इसलिए रविवार को सिर्फ जिला अस्पताल में ही वैक्सीनेशन किया गया। सोमवार को जिले के दूसरे केंद्रों पर थोड़ी-थोड़ी डोज वितरित की जाएंगी, ताकि वैक्सीनेशन का कार्य जारी रहे।


गौरतलब है कि शनिवार को सुबह साढ़े 11 बजे ही जिला अस्पताल सहित मेडीकल कॉलेज व कमलागंज के स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन खत्म होने की वजह से वैक्सीनेशन बंद कर दिया गया था तथा जो लोग वैक्सीन लगवाने की उम्मीद से आए थे, उन्हें निराश होकर वापस लौटना पड़ा था। पत्रिका ने रविवर के अंक में इस मुद्दे को प्रमुख्ता से प्रकाशित किया है। चूंकि जिले में कोरेान मरीजों के मिलने की रफ्तार एकाएक बढ़ गई है, इसलिए वैक्सीनेशन न होने से लोग अधिक परेशान हो रहे थे।


स्वास्थ्य महकमे ने भी अपने डाटा में वैक्सीन निल बताकर वैक्सीन भेजे जाने का ऑनलाइन प्रस्ताव भेजा, जिसमें 14 हजार से अधिक डोज की मांग की गई है। चूंकि वैक्सीन खत्म होने की जानकारी ऑनलाइन नजर आ रही थी, इसलिए शनिवार की रात को ही शिपपुरी में 5260 कोविसील वैक्सीन के डोज भेज दिए गए। चूंकि जिले में वैक्सीनेशन के 66 केंद्र बनाए गए हैं, लेकिन वैक्सीन के डोज कम होने की वजह से रविवार को सिर्फ जिला अस्पताल के वैक्सीनेशन सेंटर पर ही वैक्सीन लगाई गई। सोमवार को जिले के दूसरे महत्वपूर्ण केंद्रों पर इतने डोज भेजे जाएंगे, ताकि वैक्सीनेशन में बे्रक न आए।


भेजा है मांग पत्र
शनिवार की रात 5250 कोवीसिल के डोज आ गए हैं तथा पहले के 120 डोज बचे थे। वैक्सीन कम है, इसलिए आज सिर्फ जिला अस्पताल में वैक्सीनेशन किया गया। सोमवार को जिले के दूसरे केंदों पर वैक्सीन डोज भेजे जाएंगे।
डॉ. संजय ऋषिश्वर, जिला टीकाकरण अधिकारी

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned