गुस्साए पार्षदों ने की नगर पालिका में तालाबंदी,

दूसरे दिन भी दिया धरना, कार्रवाई के लिए 7 दिन का आश्वासन मिलने के बाद धरना खत्म

By: monu sahu

Published: 13 Mar 2018, 10:50 PM IST

शिवपुरी. नगरपालिका अध्यक्ष के भ्रष्टाचार के खिलाफ बैनर लगाकर नपा परिसर में चल रहे धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन मंगलवार को गुस्साए पार्षदों ने दोपहर लगभग 1 बजे दफ्तरेों सहित सीएमओ व अध्यक्ष के कक्ष में तालाबंदी कर दी। बाद में नपा के एई आरडी शर्मा ने धरना स्थल पर पहुंचकर मोबाइल से प्रभारी सीएमओ जीपी भार्गव से पार्षदों की न केवल चर्चा करवाई, बल्कि मोबाइल का स्पीकर ऑन करके उनके द्वारा दिए गए आश्वासन को भी सुनवाया। नपाध्यक्ष के पुत्र के खिलाफ कार्रवाई सहित कुल सात मांगों को पूरा करने के लिए 7 दिन के समय का आश्वासन मिलने के बाद धरना खत्म कर दिया।
नपा परिसर में लगे टैंट के नीचे मंगलवार को फिर से वार्ड क्रमांक 11 की महिला पार्षद नीलम बघेल व वार्ड 15 के पार्षद अरुण पंडित सहित वार्ड की महिलाओं ने फिर से धरना शुरू किया तथा दोपहर 1 बजे सभी एकजुट होकर नपा के दफ्तरों पर ताला डालने पहुंचे। मुख्य कार्यालय में तालाबंदी के साथ ही उन्होंने एकाउंट का गेट भी बंद करवाकर ताले लटका दिए। फिर यह भीड़ सीएमओ के कक्ष पर ताला लगाने के बाद जब नपाध्यक्ष व उपाध्यक्ष के कक्षों की तरफ बढ़े, तो वहां पर ताला पहले से ही लगा हुआ था। इस दौरान आक्रोशित लोगों का कहना थाकि बोर में पानी है, पर नपा में मोटर व पाइप नहीं मिल रहे। पार्षदों ने यह भी आरोप लगाया कि नपाध्यक्ष अपने पुत्र मोह में फंसे हुए हैं और उनका बेटा अपनी मर्जी से फाइलों को आगे बढ़ाता है, जिसके चलते वार्डों में काम भी नहीं हो पा रहे।
ये हैं मांगें
- कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया दो माह पूर्व बायपास तक सिंध का पानी ले आईं, लेकिन नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह ने उसे घरों तक पहुंचाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। जिस वजह से शहर की जनता पानी को तरस रही है।
- मोटर सप्लाई में भ्रष्टाचार किया जा रहा है। फर्म को ब्लैकलिस्ट करने व एफडीआर राजसात करने हेतु, दो इंच पाइप जीआई की फाइल अध्यक्ष पुत्र के पास है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।
- फिल्टर प्लांट के ऐलम की सप्लाई में कंडीशन पूरी न करने पर भी उसी श्रीकृष्णा फर्म से मंगवाईजा रही है, जबकि दूसरे टेंडर खोले नहीं गए।
- फिल्टर प्लांट पर लगाने के लिए 3 लाख की जगह 9 लाख की 100 एचपी मोटर सेंशन की गई।
- मोटर डालने व निकालने का टेंडर अभी तक नहीं हुआ तथा पुरानी फर्म से ही काम करवाया जा रहा है, जिसमें अध्यक्ष पुत्र को कमीशन मिल रहा है।
- नगरपालिका की सभी फाइलें नपाध्यक्ष के पुत्र सोनू कुशवाह के चंगुल से मुक्त कराकर नपा कार्यालय में लाईजाएं।

 

Show More
monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned