scriptAsphaltization happened after a long wait, dug again for light | थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं | Patrika News

थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं

थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं
लंबे इंतजार के बाद हुआ डामरीकरण, लाइट के लिए फिर खोदा

शिवपुरी

Published: March 06, 2022 09:13:42 pm

थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं
लंबे इंतजार के बाद हुआ डामरीकरण, लाइट के लिए फिर खोदा
शिवपुरी। शिवपुरी शहर में यूं तो कई विकास कार्य चल रहे हैं, लेकिन आपसी सामंजस्य न होने की वजह से बने हुए काम को बिगाडऩे की परंपरा सी कायम हो गई। यह स्थिति थीम रोड में भी बन रही है, जहां एक तरफ डामरीकरण हो रहा है, तो दूसरी तरफ बनी हुई सडक़ खोदी जा रही है।
गौरतलब है कि शहर के मध्य बन रही थीम रोडके बीच डिवाइडर वाली जगह पिछले लंबे समय से यूं ही छोड़ दी थी और बमुश्किल दस दिन पहले ही उस जगह डामरीकरण किया गया। सडक़ पर डामर होने के बाद लोगों को बड़ी राहत मिली थी, क्योंकि पहले उस गड्ढे में गाड़ी खड़ी करके क्रॉसिंग के लिए इंतजार करना पड़ता था। अभी इस डामर सडक़ का ठीक से उपयोग भी नहीं कर पाए थे कि शनिवार को उस जगह पर सडक़ को फिर से खोदकर उसमें लाइट का तार डाला जाने लगा। यानि सडक़ का सुख मिलने से पहले ही उसे फिर से जख्मी किया जाने लगा। बताया जाता है कि डामरीकरण के बाद याद आया कि डिवाइडर के बीच में लगने वाले लाइट के पोल तक बिजली पहुंचाने के लिए अंडरग्राउंड वायरिंग तो डाली ही नही गई थी। इसलिए बनी हुईसडक़ को खोदकर वायरिंग डालने का काम किया जा रहा है।
हालांकि यह सब शहरवासियों के लिए नया नहीं है, क्योंकि शिवपुरी में अभी तक यही होता रहा है। एक तरफ सडक़ बनाई जाती है तो दूसरी तरफ से उसे किसी न किसी काम के चलते फिर से खोदा जाता है। शहर में सीवर प्रोजेक्ट से लेकर जलावर्धन योजना की पाइप लाइन के लिए बनी हुईसडक़ों को बेतरतीब तरीके से खोदा गया और फिर उसे यूं ही छोड़ दिया गया।
यह बोले शहरवासी
मेरी तो समझ में नहीं आता कि शिवपुरी में विकास कार्यों की मॉनीटरिंग करने वाले क्या देख रहे हैं। जिस काम को बाद में किया जाता है, उसे यदि पहले ही कर लेते तो लंबे इंतजार के बाद बनने वाली सडक़ को फिर से खोदा नहीं जाता। शिवपुरी का तो भगवान ही मालिक है।
ंसंजीव बिलगैंया, एडवोकेट शिवपुरी
बोले एसडीओ: मैने भी जताई नाराजगी
मैने भी ठेकेदार से कहा कि जब आपको लाइट की वायरिंग डालनी थी तो उस काम को डामरीकरण से पहले ही कर लेना था। दूसरी बार डामरीकरण भी ठेकेदार को ही करना है, लेकिन जोड़ तो अलग से नजर आता ही है।
हरिओम अग्रवाल, एसडीओ पीडब्ल्यूडी शिवपुरी
थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं
थीम रोड के काम में भी सामंजस्य नहीं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Gujarat News: जामनगर के होटल में लगी भयानक आग, स्टाफ सहित 27 लोग थे मौजूद, सभी सुरक्षितत्रिपुरा कांग्रेस विधायक सुदीप रॉय बर्मन पर जानलेवा हमला, गंभीर रूप से हुए घायलबांदा में यमुना नदी में डूबी नाव, 20 के डूबने की आशंकाCM अरविंद केजरीवाल ने किया सवाल- 'मनरेगा, किसान, जवान… किसी के लिए पैसा नहीं, कहां गया केंद्र सरकार का धन'SCO समिट में पीएम मोदी के साथ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की हो सकती है बैठकबिहारः 16 अगस्त को महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार, 24 को फ्लोर टेस्ट, सुशील मोदी के दावे को नीतीश ने बताया बोगसझारखंड BJP ने बिहार के नए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को गिफ्ट में भेजा पेन, कहा - '10 लाख नौकरी देने वाली फाइल पर इससे करें हस्ताक्षर'Karnataka High Court: एक्सीडेंट में माता-पिता की मौत होने पर विवाहित बेटियां भी मुआवजे की हकदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.