सीएमएचओ ऑफिस में कुर्सी की लड़ाई: पहले वाले जाने को तैयार नहीं, नवागत ने संभाला चार्ज

कुर्सी की चाहत नेता हो या अधिकारी, सभी को रहती है और इसके लिए कोई कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहता है। इन दिनों सीएमएचओ ऑफिस में भी कुर्सी की लड़ाई चल रही है, जिसमें नवागत सीएमएचओ ने एकतरफा चार्ज ले लिया, जबकि पूर्व सीएमएचओ शुक्रवार को कोर्ट से स्टे ले आए।

By: rishi jaiswal

Published: 05 Feb 2021, 11:13 PM IST

शिवपुरी. कुर्सी की चाहत नेता हो या अधिकारी, सभी को रहती है और इसके लिए कोई कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहता है। इन दिनों सीएमएचओ ऑफिस में भी कुर्सी की लड़ाई चल रही है, जिसमें नवागत सीएमएचओ ने एकतरफा चार्ज ले लिया, जबकि पूर्व सीएमएचओ शुक्रवार को कोर्ट से स्टे ले आए। आज दोपहर में जैसे ही पूर्व सीएमएचओ को स्टे मिला तो वे बिना देर किए अपने दफ्तर पहुंचे और नवागत सीएमएचओ को हटाकर खुद उस पर बैठ गए। इन हालातों के बीच इस ऑफिस के कर्मचारी असमंजस में हैं कि वे किसके साथ खड़े हो...?।


ज्ञात रहे कि बीते 30 जनवरी को शासन ने ट्रांसफर लिस्ट जारी की, जिसमें शिवपुरी सीएमएचओ रहे डॉ. एएल शर्मा को श्योपुर ट्रांसफर कर दिया तथा उनकी जगह भिंड से डॉ. पवन जैन को सीएमएचओ शिवपुरी बना दिया गया। डॉ. पवन ने सोमवार 1 फरवरी को शिवपुरी आकर ज्वाइनिंग दी तो उस समय डॉ. शर्मा ने उनका फूल-माला से स्वागत किया। लेकिन जब प्रभार देने की बात आई तो डॉ. शर्मा गायब हो गए, जिसके चलते डॉ. पवन जैन ने एकतरफा प्रभार ले लिया तथा इस दौरान उन्हें डीडीए पॉवर भी मिल गए। उधर डॉ. शर्मा ने ट्रांसफर आदेश का पालन करने की बजाय ग्वालियर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। जिस पर उन्हें आज शुक्रवार को कोर्ट ने स्टे दे दिया।


स्टे मिलते ही पहुंचे दफ्तर, हटाया कुर्सी से
नवागत सीएमएचओ डॉ. पवन जैन ने बताया कि आज दोपहर में जब मैं अपने ऑफिस में बैठा था, तभी डॉ. शर्मा वहां आ गए और उन्होंने बातों ही बातों में धकियाते हुए डॉ. जैन को कुर्सी से हटाया और खुद उस पर बैठ गए। इस दौरान डॉ. पवन से उनकी कुर्सी पर बैठने को लेकर बहस भी हुई। डॉ. जैन का कहना था कि शासन ने मुझे यहां भेजा है और मेरा आदेश भी निरस्त नहीं किया है, इसलिए कुर्सी पर तो मैं ही बैठूंगा। इन हालातों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि सीएमएचओ कार्यालय में कुर्सी की लड़ाई इन दिनों चरम पर है।

बोले डॉ. शर्मा: तीन ग्राउंड पर मिला स्टे
पूर्व सीएमएचओ डॉ. शर्मा का कहना है कि मुझे न्यायालय ने तीन ग्रांउंड पर स्टे दिया है। जिसमें पहला मेरा रिटायरमेंट में केवल 7 माह शेष रह गए हैं, दूसरा कारण है कि डा.ॅ पवन जैन क्लास-टू हैं, जबकि यह सीट क्लास-वन की होती है। तीसरा महत्वपूर्ण कारण यह है कि श्योपुर में सीएमएचओ व सिविल सर्जन भी मेरे जूनियर हैं, तो मैं जूनियर के अंडर में कैसे काम कर सकता हूं।

बोले डॉ. जैन: मैं शासन का नौकर हूं
मैं शासन का नौकर हूं और जब शासन ने मेरा ट्रांसफर किया तो मैं शिवपुरी आ गया। उन्हें न्यायालय ने स्थगन दिया है तो मैं कोर्ट आदेश का भी सम्मान करता हूं। लेकिन शासन ने मेरा आदेश निरस्त नहीं किया है, इसलिए मैं तो अपनी कुर्सी पर हूं तथा वरिष्ठ अधिकारी जो भी आदेश करेंगे, मैं उसका पालन करूंगा।
डॉ. पवन जैन, सीएमएचओ शिवपुरी

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned