ज्वैलर्स की दुकान के तोड़े ताले, टीआइ बोले : खुद करो सुरक्षा

टीआइ की बात सुनकर भड़के व्यवसायी, बंद किया बाजार, पहुंचे एएसपी
अभी तक हुई एक दर्जन चोरियों का नहीं लगा सुराग, व्यवसायी चिंतित

शिवपुरी/बदरवास. शिवपुरी जिला मुख्यालय पर पुलिस लाइन में रहने वाले चार पुलिस जवानों की घर से चोरी हुई बाइकों का अभी सुराग भी नहीं लग पाया था कि चोरों ने बदरवास में एक ज्वैलर्स की दुकान को निशाना बना लिया। यह तो शुक्र है कि पड़ोसी के जागने तथा दुकान मालिक के तत्काल दुकान पर आ जाने की वजह से चोर बड़ी वारदात को अंजाम नहीं दे पाया, लेकिन फिर भी वह डेढ़ लाख का माल समेट ले गया। आए दिन हो रहीं चोरियों से परेशान व चिंतित हुए व्यवसासियों ने जब बदरवास थाना प्रभारी से सुरक्षा की बात कही तो वे बोले कि हमारे पास स्टाफ नहीं है, इसलिए अपनी सुरक्षा खुद करो। टीआइ की यह बात सुनकर व्यवसायी भड़क गए और उन्होंने बाजार बंद कर दिया। सूचना मिलने पर एडीशनल एसपी प्रवीण कुमार व एसडीओपी कोलारस बाजार पहुचे तथा व्यवसायियों को समझाया, तब कहीं जाकर बाजार खुल सका।

बदरवास में हाइवे पर स्थित कनक ज्वैलर्स के संचालक राघवेंद्र मित्तल का दुकान के पीछे ही घर भी है। गुरुवार की अलसुबह लगभग 4 बजे चोरों का एक गिरोह मित्तल की दुकान पर पहुंचा और उसने शटर के ताले तोड़कर पहले काउंटर पर रखे माल पर ही हाथ साफ किया था कि तभी पड़ोस में रहने वाले भाजपा नेता कल्याण सिंह यादव की नींद खुल गई और वे बाहर निकले तो दुकान के अंदर से आवाज आ रही थी तथा कुछ चोर दुकान के बाहर खड़े थे। यादव ने तत्काल राघवेंद्र मित्तल को फोन करके बताया कि तुम्हारी दुकान में चोर घुस गए हैं। यह बात सुनकर राघवेंद्र व उनके परिजन भी बाहर निकल आए। दुकान मालिक के उठ जाने की वजह से चोर मौके से भाग निकले। जब मित्तल परिवार ने दुकान पर जाकर हालात देखे तो उसके एक काउंटर में रखे चांदी की जेवरात वजन लगभग ढाई किलो, समेट कर ले गए। चोरी गए माल की कीमत डेढ़ लाख रुपए बताई जा रही है। दुकान संचालक राघवेंद्र मित्तल ने बताया कि हमारी दुकान से बमुश्किल 100 मीटर की दूरी पर ही डायल-100 खड़ी थी, जिसे सूचना देने पर वह मौके पर आ गई थी, लेकिन सुबह सवा 4 बजे सूचना देने पर थाने की पुलिस सुबह साढ़े पांच बजे दुकान पर पहुंची।

टीआइ के जवाब से नाराज हुए व्यवसायी

मौके पर पहुंचे बदरवास थाना प्रभारी उमेश उपाध्याय जब पहुंचे तो दुकान मालिक सहित अन्य व्यवसायियों ने कहा कि नगर में आए दिन चोरियों की घटना बढ़ रही हैं, पुलिस की गश्त कहीं नजर नही आ रही। इस पर टीआइ ने कहा कि हमारे पास स्टाफ की पहले से ही कमी है, इसलिए आप लोग अपनी सुरक्षा स्वयं ही देखें। यह बात सुनते ही व्यवसायी नाराज हो गए और उन्होंने बाजार बंद करने का एलान कर दिया और देखते ही देखते बाजार बंद हो गया।


नहीं जागते पड़ोसी तो होती बड़ी वारदात

ज्वैलर्स राघवेंद मित्तल का कहना है कि हमारे पड़ोसी की नींद खुलने पर उन्होंने हमें समय पर सूचना दे दी और हम उठकर आ गए। यदि हमें मालूम नहीं पड़ता तो दुकान के अंदर रखे सोने के जेवरात सहित बड़ी चोरी को अंजाम दे सकते थे। चोरों ने सिर्फ बाहर के एक काउंटर पर ही हाथ साफ किया है, जिसमें लगभग डेढ़ लाख रुपए कीमत के चांदी के जेवर चोरी कर ले गए। मित्तल ने बताया कि दुकान के बाहर आठ लोग खड़े थे, जिनके हाथ में खुले हथियार तलवार, सरिया, सब्बल, गुलेल आदि थे। दुकानदार ने कहा कि यदि वे दुकान में बड़ी वारदात को अंजाम देते तो हो सकता है कि हमारे परिवार को भी नुकसान पहुंचा सकते थे।


चार माह से सकिय है गिरोह

ज्वैलर्स राघवेंद्र मित्तल ने बताया कि नगर में पिछले चार माह से एक अज्ञात गिरोह डेरा डाले हुए हैं, जो हर 15-20 दिन में एक न एक वारदात को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन पुलिस अभी तक एक भी चोरी को ट्रेस नहीं कर पाई है। गिरोह किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहा है।


सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए चोर

कनक ज्वैलर्स पर लगे सीसीटीवी कैमरे में चोरी की वारदात को अंजाम देने आए चोर गिरोह के कुछ सदस्य कैद हो गए हैं। सीसीटीवी कैमरे के फुटेज दुकान संचालक ने पुलिस को उपलब्ध करा दिए हैं। पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश में जुट गई है।


एएसपी ने समझाया, तब खुला बाजार

चोरी के बाद बाजार बंद की सूचना पर एडीशनल एसपी प्रवीण कुमार व एसडीओपी कोलारस अमरनाथ वर्मा भी मौके पर पहुंच गए। एएसपी ने फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट सहित स्नीफर डॉग को बुलवाया। साथ ही एएसपी ने व्यवसायियों को समझाया कि हम चोरों को पकडऩे की हर संभव कोशिश कर रहे हैं, जल्द ही चोरों को पकड़ा जाएगा। इस आश्वासन के बाद दुकानदारों ने बाजार खोला।

महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned