स्वच्छता सर्वेक्षण : प्रदेश में शहर को मिला 17वां स्थाने

स्वच्छता सर्वेक्षण : प्रदेश में शहर को मिला 17वां स्थाने

Rakesh shukla | Publish: Mar, 07 2019 07:00:00 AM (IST) Shivpuri, Shivpuri, Madhya Pradesh, India

स्वच्छता में शिवपुरी देश में 82वें स्थान पर , पिछली बार 187वां स्थान पाया

शिवपुरी. बीते माह शिवपुरी सहित प्रदेश व देश में हुए स्वच्छता सर्वेक्षण की रैकिंग जब बुधवार को घोषित हुई, तो शिवपुरी ने 105 कदम आगे बढ़ाकर देश में 82वां स्थान प्राप्त किया। वहीं प्रदेश में इस बार शिवपुरी को 17वां स्थान मिला है, जो शहर के लिए गौरव की बात है। यह तब हो पाया, जब नगरपालिका ने कचरा गाडिय़ों की संख्या बढ़ाई तथा घर-घर से लगातार शहरभर से कचरा का कलेक्शन किया तथा सफाईकर्मियों ने लगातार शहर को स्वच्छ किया।
नगरपालिका के स्वास्थ्य अधिकारी गोविंद भार्गव ने बताया कि पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में शिवपुरी को देश में 18 7वां स्थान मिला था, लेकिन इस बार सफाई के मामले में शिवपुरी ने देश में 82वां स्थान प्राप्त किया है। यानि एक साल में शिवपुरी ने स्वच्छता के मामले में 105 पायदान आगे बढ़ाए हैं। शिवपुरी शहर को स्वच्छता में बढ़े कदमों को देखकर यह माना जा सकता है कि आने वाले समय में शिवपुरी शहर की स्थिति मेंं और भी बेहतर सुधार होगा, क्योंकि वर्तमान में कुछ सडक़ें निर्माणाधीन हैं, जिनके बनने के बाद शहर और भी अधिक साफ-सुथरा नजर आएगा।

इसलिए मिली सफलता
पहले नगरपालिका के पास महज 12 कचरा गाडिय़ां थीं, लेकिन वर्तमान में नपा के पास कुल 22 कचरा गाडिय़ां हैं, जिससे पूरे शहर में घर-घर से कचरा कलेक्शन किया जा रहा है।
स्व सहायता समूह की महिलाओं को आगे लाकर किचिन से निकलने वाले कचरे से खाद बनाने के लिए प्रेरित किया है। जिससे अब घर के किचिन से निकलने वाले कचरे का खाद में उपयोग किया जा रहा है।
बड़ौदी स्थित ट्रेंचिंग ग्राउंड पर ग्रेडिंग (फटाफट) मशीन लगाई है, जो कचरे में से पॉलीथिन को अलग करके कचरे को अलग-अलग किया जा रहा है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में प्रदेश में शिवपुरी को 17वां स्थान मिलने के लिए नपा कर्मचारियों की मेहनत एवं आमजन का सहयोग महत्वपूर्ण रहा है। नपा में 10 कचरा गाड़ी और बढऩे के बाद 22 गाडिय़ां अब पूरे शहर से डोर-टू-डोर कलेक्शन कर रहे हैं।
सीपी राय, सीएमओ नपा शिवपुरी

इधर कायाकल्प में 2३ पायदान नीचे उतरा जिला अस्पताल
देश में जब पहली बार कायाकल्प अभियान के तहत सर्वे हुआ था, तब शिवपुरी जिला अस्पताल ने पहले पायदान पर स्थान पाकर शिवपुरी का नाम देश भर में गौरवान्वित किया था। पिछले सर्वे में भी जिला अस्पताल दूसरे नंबर पर आया था, लेकिन तीसरी बार जब यह सर्वे हुआ तो शिवपुरी जिला अस्पताल 24वें पायदान पर आया। यानि शिवपुरी अस्पताल महज एक ही साल में 23 कदम नीचे सरक कर 24वें स्थान पर आया है। यानि स्वच्छता के मामले में शिवपुरी जिला अस्पताल के पिछडऩे के पीछे बहुत से ऐसे कारण हैं, जो पिछली बार नहीं रहे थे। जिला अस्पताल शिवपुरी को पहले कायाकल्प में पहला स्थान दिलवाने वाले सिविल सर्जन डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि हमने पहले सर्वे में अपना सब कुछ लगा दिया था। उसके बाद जब दूसरा सर्वे हुआ, तब भी हमारे नंबर सभी से अधिक थे। सिविल सर्जन डॉ. सिंह का कहना है कि सर्वे में ऑपरेशन थियेटर से लेकर ओपीडी भी शामिल की जाती है, इस बार मैं सर्वेके दौरान कुर्सी पर नहीं था, शायद इसीलिए शिवपुरी इतने पायदान नीचे सरक गया। सर्वे के दौरान जो भी तैयारियां कीं, उसमें शायद कुछ कमी रह गई, इसलिए हमें इस बार 24वें पायदान पर नीचे सरकना पड़ा।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned