उपभोक्ता जागरुक हो तो नहीं होगा शोषित : डॉ. श्वेता

कलेक्ट्रेट में हुआ उपभोक्ता दिवस पर कार्यक्रम, वक्ताओं ने दी जानकारी

शिवपुरी. हर शख्स किसी न किसी रूप में उपभोक्ता है और वो यदि जागरुक रहेगा तो उसका कहीं भी शोषण नहीं हो सकता। उपभोक्ता को मिलने वाली सुविधाओं में यदि किसी तरह की कमी होती है तो उसे निर्धारित प्लेटफार्म पर अपनी बात रखनी चाहिए। यह बात गुरुवार को राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित वेबीनार में उपभोक्ता अधिकार संगठन की जिलाध्यक्ष डॉ. श्वेता शर्मा ने कही। इस मौके पर फूड अधिकारी, पेट्रोल पंप संचालक व बिजली कंपनी के उपमहाप्रबंधक ने भी विचार व्यक्त किए।


कोरोना संक्रमण काल के चलते सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कलेक्ट्रेट में उपभोक्ता दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल अतिथि के रूप में मौजूद रहे। उपभोक्ता अधिकार संगठन की जिलाध्यक्ष डॉ. श्वेता ने कहा कि पेट्रोल पंप संचालकों को यह बैनर लगाने चाहिए कि जब कोई उपभोक्ता पेट्रोल लेने आए तो वहां पर मोबाइल पर बात न करे, क्योंकि यह जरा सी चूक किसी बड़े हादसे का कारण बन सकती है। फूड अधिकारी आशुतोष मिश्रा ने बताया कि उपभोक्ताओं को यह देखना चाहिए कि पैकेट वाली सामग्री में कंपनी का नाम व उसका पता भी हो, क्योंकि कुछ पैकिंग में केवल इंडिया लिखा होता है, जिससे उस कंपनी का पता नहीं चल पाता है। उन्होंने कहा कि पैकिंग की जाने वाली पॉलीथिन भी ऐसी होनी चाहिए कि उसमें अंदर रखी सामग्री नजर आए, ताकि उसकी क्वालिटी भी नजर आ सके। मिश्रा ने कहा कि किसी भी सामान पर दर्ज एक्सपायरी डेट का यह मतलब नहीं होता कि वो खराब हो गई, बल्कि वो तारीख बेहतर गुणवत्ता की समयावधि तय करती है। कार्यक्रम में पेट्रोल पंप संचालक तरुण अग्रवाल, उपभोक्ता संगठन के वीरेंद्र वौहान एवं उप महाप्रबंधक सुबोध तेंबूर्णीकर ने भी विचार व्यक्त किए।

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned