Big Breaking : हाइफ्लो ऑक्सीजन मशीन में लगी आग, कोरोना मरीज की मौत

शिवपुरी के जिला अस्पताल में बड़ा हादसा

शिवपुरी. जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में बुधवार बड़ा हादसा हो गया। दोपहर को यहां हाइफ्लो ऑक्सीजन मशीन (मिनी वेंटिलेटर) में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लग गई। वेंटिलेटर पर लेटे गुना के एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि मशीन में आग लगने के बाद हॉस्पिटल स्टाफ ने उनके पिता को शिफ्ट तक नहीं किया। इस कारण उनकी मौत हो गई।

मृतक के पुत्र के अनुसार वह खुद पिता को धुएं के बीच से खींच कर लाए जिसके बाद डॉक्टरों ने उनका चेकअप किया, लेकिन तब तक उनकी ऑक्सीजन न मिलने के कारण और धुएं से दम घुटने से मौत ही गई। इस संबंध में जब अस्पताल के जिम्मेदार लोगों से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने व्यस्तता बता कर फिलहाल कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

जानकारी के मुताबिक गुना के करनालगंज निवासी मोहम्मद इस्लाल (65) पुत्र मोहम्मद शफीक को 23 सिंतबर को शिवपुरी जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया था। वार्ड में आज दोपहर अचानक से जब हाई फ्लो ऑक्सीमीटर में आग लगी तो मौके पर भगदड़ मचने के साथ अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। घटना में जिस पलंग पर मोहम्मद इस्लाम भर्ती थे, उसी पलंग पर लगी हाइफ्लो ऑक्सीमीटर में आग लगने से मोहम्मद इस्लाम को ऑक्सीजन मिलना बंद हो गई, जिससे मोहम्मद इस्लाम ने कुछ ही देर में देखते-देखते दम तोड़ दिया।

24 घंटे ऑक्सीजन पर चल रहे थे

मृतक के पुत्र मोहम्मद साबिर का कहना है कि उसके पिता 24 घंटे ऑक्सीजन पर चल रहे थे, ऐसे में जब ऑक्सीजन मिलना बंद हुई तो यह घटना हुई। वार्ड के शेष मरीजो को दूसरे वार्ड में भर्ती कराया गया है। हालांकि आग की सूचना पर से मौके पर दमकल पहुंची, लेकिन आग का इतना बड़ा रूप नही था, उसे अंदर के स्टाफ ने ही बुझा दिया था।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned