scriptHail wreaked havoc, crops destroyed | ओलों ने मचाई तबाही, फसलें हुई बरबाद | Patrika News

ओलों ने मचाई तबाही, फसलें हुई बरबाद

किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें, पिछली बार बी नहीं मिला ता फसल बीमा का पैसा

शिवपुरी

Published: January 10, 2022 07:58:17 pm

शिवपुरी. बदरवास में पिछले दिनों बारिश के साथ चली तेज हवाओं और ओलों ने बदरवास के कई गांव में जमकर तबाही मचाई। कुछ खेतों में फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गईं, वहीं ओलादवृष्टि से एक व्यक्ति की मौत तथा तीन लोग घायल हो गए। आदिवासियों के आशियाने उजड़ गए तथा दाने-दाने को मोहताज हुए गरीब किसानों को मदद की दरकार है।

monkey.png

रविवार को कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह स्वयं बदरवास पहुंचे तथा खेतों में जाकर उन्होंने फसलों की बर्बादी देखने के बाद कहा कि नुकसान का सर्वे करवाने के बाद हर पीड़ित को मुआवजा दिलाया जाएगा। जिले के कोलारस अनुविभाग के अंतर्गत आने बाले ग्राम टोरिया, बड़ेरा, झाड़ेल, खरई, अटूनी, ग्रामों में पत्रिका टीम जब पहुंची तो पता चला कि आदिवासियों के आशियाने उजड़ गए.

तो वहीं 100 से जायदा खम्बे टूटने तथा 10 डीपी भी गिरने से टूट गईं। वर्तमान में उक्त ग्रामों में जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात में अचानक हुई ओलावृष्टि से जब सुबह खेतों पर किसानों ने देखा तो उनके अरमानों पर पानी फिर गया क्योकि गेहूं, चना, सरसों, धनिया व उड़द की फसल ओलावृष्टि से शत-प्रतिशत बर्बाद हो गई।

8 लाख की लागत से लगाए थे टमाटर
ग्राम टोरिया में राधाबाई पत्नी मजबूत सिंह धाकड़ ने ठेके से आठ बीघा जमीन ली और उसमें आठ लाख की लागत से टमाटर लगाया। टमाटर तैयार हो गया था और बाजार में बिक्री के लिए पहुंच पाता, उससे पहले ओलावृष्टि से पूरी तरह बर्बाद हो गया।

फसल बीमा को लेकर भी चिंता
कोलारस अनुविभाग के अंतर्गत करीब 50 से ज्यादा बदरवास रन्नौद कोलारस के ग्रामों में नुकसान हुआ है। उक्त नुकसान को लेकर किसान चिंतित हैं क्योकि किसानों को पूर्व में सोयाबीन की फसल में राहत राशि और फसल बीमा नहीं मिला। कही इस बार भी ऐसा न हो, किसानों के मन में यह डर बना हुआ है।

पिता भी दुनिया छोड़ गया
बदरवास के ग्राम बढ़ेरा में बीते 15 दिन पूर्व जवान बेटे दिनेश आदिवासी की मौत हो गई। उक्त मौत के सदमे से परिवार अभी उबर भी नहीं पाया था कि ओलावृष्टि के दौरान खेत में बैठे 60 वर्षीय कृषक पिता खच्चू आदिवासी की भी ओलों से मौत हो गई। जानकारी के अभाव में मृतक के परिजनों ने खच्चू आदिवासी का अंतिम संस्कार भी कर दिया। अभी तक प्रशासनिक अमला उक्त परिवार की खैर खबर लेने के लिए तक नहीं पहुंचा है।

किसानों को मिलेगा फसल बीमा व मुआवजा
कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बताया कि जहां जो नुकसान हुआ है, उसके सर्वे के लिए 3 विभागों की टीम गठित की गई हैं। वे एक साथ नुकसान वाले क्षेत्र में पहुंचकर नुकसान का जायजा लेकर उसकी रिपोर्ट तीन दिवस में प्रस्तुत करेंगे। में अपने साथ वित्तीय संस्थाओं के प्रबंधकों को लेकर आया हूं, जिससे कहां, कितना नुकसान हुआ है, इसकी जानकारी हो तथा किसानों को फसल बीमा का लाभ मिले |

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.