सफलता हासिल करना है तो अर्जुन की तरह लक्ष्य पर नजर रखो

शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में शुक्रवार को जिला स्तरीय जॉब फेयर का आयोजन किया गया। इस जॉब फेयर का उद्देश्य जिले के विभिन्न शासकीय-अशासकीय कॉलेजों के छात्र-छात्राओं को अलग-अलग कंपनियों में जॉब उपलब्ध कराना था।

शिवपुरी. शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में शुक्रवार को जिला स्तरीय जॉब फेयर का आयोजन किया गया। इस जॉब फेयर का उद्देश्य जिले के विभिन्न शासकीय-अशासकीय कॉलेजों के छात्र-छात्राओं को अलग-अलग कंपनियों में जॉब उपलब्ध कराना था। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में जिला पंचायत सीईओ एचपी वर्मा उपस्थित हुए।


उन्होंने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि अगर आपको सफलता हासिल करना है तो आपको अपने लक्ष्य पर अर्जुन की तरह नजर रखना होगा। ऐसे में आपको पहले से ही यह तय करना होगा कि आपको आईएस बनना है, एजुकेशन लाइन में जाना है या फिर ज्यूडिशियल लाइन में, क्योंकि नथिंग इज पॉसीबल, एवरीथिंग इज पॉसीबल। उनके अनुसार निश्चित रूप से आज जो तय करेंगे और उस पर नजर रखेंगे तो उसे पा सकेंगे। उन्होंने कहा कि आज यह संभव नहीं है कि हर किसी व्यक्ति को सरकारी नौकरी मिल सके, ऐसे में आपको आनी रूचि के अनुसार प्रायवेट सेक्टर में भी भाग्य आजमाना पड़ेगा। इस परिस्थिति में ऐसे जॉब फेयर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। यहां आपको विभिन्न कंपनियों द्वारा जॉब ऑफर किए जाएंगे । इस मेले में पहले चीफ गेस्ट के रूप में कलेक्टर अनुग्रहा पी को आमंत्रित किया गया था, परंतु वह मेले के उद्घाटन अवसर पर नहीं पहुंच सकीं, लेकिन वह बाद में मेले की विजिट करने पहुंची।

जॉब फेयर में पहुंचे कॉलेज, कोर्सेस की जानकारी लेकर लौटे : जॉब फेयर में शिवपुरी के कुछ स्कूल, कॉलेज और सरकारी विभाग, बैंक आए जिन्होंने जॉब फेयर में आए छात्र-छात्राओं को विभिन्न योजनाओं और कॉलेजों में संचालित विभिन्न कोर्सों की जानकारी दी। जब जॉब फेयर में जॉब की चाह में पहुंचे बच्चों से बात कर मेले के संबंध में जानकारी चाही तो उनका कहना था कि मेले में जिन कंपनियों की जानकारी दी गई थी, वह नहीं आईं और जॉब फेयर में उनके लायक जॉब नहीं मिली पाई। कई बच्चों ने तो इस जॉब फेयर को सिर्फ ऑपचारिकता मात्र बताया।

नहीं आई बाहर की कंपनियां
कॉलेज प्रबंधन ने पूर्व में बताया था कि इस जॉब फेयर में इंदौर से शिव बायोटेक, देविका मेन पावर सर्विसेज देवास, कृतिका वर्क फोर्स सिक्युरिटी प्रायवेट प्रायवेट लिमिटेड भोपाल, एलआईसी, नालंदा इंस्टीट्यूट, नोशन कंसल्टेंट इंदौर, एलएंडटी फायनेंशियल सर्विसेज इंदौर, ड्रीम इंडिया स्किल्स अकादमी, ओसियन मोटर्स इंदौर, तिरूपति बालाजी, ब्राइट ऑटो प्लास्ट, पेटीएम जैसी कंपनियों को आना था परंतु इनमें से एक भी कंपनी जॉब फेयर में नहीं आई।

ये बोले छात्र-छात्राएं
मैं बीएससी की छात्रा हूं, मैंने मेले में ऑल इन वन देखा, वहां मुझे मेरे लायक कोई जॉब नजर नहीं आया। बाहर से जो कंपनियां आनी थीं वह नहीं आई हैं।
निशा सोनी, छात्रा

मैं मेले में घूम कर आया हूं, यहां सिर्फ शिवपुरी के प्रायवेट कॉलेज व स्कूल आए हैं। वह भी अपने यहां होने वाले कोर्सेस की जानकारी दे रहे हैं।
आदित्य, छात्र

मैं बीएससी फायनल ईयर की छात्रा हूं, यहां जॉब बता रहे हैं परंतु वह मेेरे लायक नहीं हैं। बाहर की जिन कंपनियों के बारे में बताया गया था वह कोई भी यहां नहीं आई हैं।
शालिनी सोनी, छात्रा

अन्य जिलों में मेले होने से नहीं आईं कंपनियां
बाहर की कंपनियों से आने का एपू्रवल मिल गया था, परंतु इन्हीं तारीखों में अन्य जिलों में भी जॉब फेयर का आयोजन हुआ था, इसलिए वह नहीं आ सकीं। मेले में ६५२ रजिस्ट्रेशन हुए हैं, जॉब के लिए फॉर्म शॉर्ट लिस्ट किए जा रहे हैं, ऐसे में शनिवार तक ही पता लगेगा कितने युवाओं को जॉब मिला है।
प्रो यूसी गुप्ता, जॉबफेयर मेला संयोजक

Rakesh shukla Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned