हार के बाद भी महाराज ही हैं यहां के 'राजा', पहुंचे तो हुई फूलों की बारिश और मनी दिवाली


शिवपुरी दौरे के दौरान पुराने रंग में दिखे ज्योतिरादित्य सिंधिया

शिवपुरी/ लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया का लगाव अपने क्षेत्र से कम नहीं हुआ है। अभी भी उनकी लोकप्रियता क्षेत्र में बरकरार है। हाल के दिनों में वह अपने क्षेत्र में कुछ ज्यादा ही सक्रिय रहते हैं। लोकसभा चुनाव में उन्हें बीजेपी के केपी यादव ने हराया था। लेकिन सिंधिया का जलवा अभी भी क्षेत्र में बरकरार है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया सरकार के मंत्रियों के साथ आज भी अपने क्षेत्र में उनकी समस्याएं सुनने जाते हैं। गुरुवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया फिर शिवपुरी पहुंचे थे। उनके साथ मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर भी थे। इस दौरान सिंधिया ने सैकड़ों लोगों से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनीं। साथ ही ऑन स्पॉट ही उसे निपटाने के निर्देश भी दिए।

गुरुवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया शिवपुरी जिले के पिछोर में पहुंचे थे। वहां उनके साथ मंत्री इमरती देवी भी नजर आईं। वहां उन्होंने कांग्रेस नेताओं की समस्याओं को सुना। उसके बाद जिले के खनियाधाना में जन-संवाद के दौरान उन्होंने कांग्रेसजनों, कार्यकर्ताओं और नागरिकों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को सुना और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।


सिंधिया ने रात में शिवपुरी विश्रामगृह में रुके। जहां वह रात में भी लोग से मिले। साथ ही वह पानी की बारह साल पुरानी योजना को लेकर अधिकारियों की क्लास भी लगाई। सिंधिया ने सीईओ, एसडीएम और प्रभारी मंत्री से कहा कि मुझे उस योजना के बारे में पूरी अपडेट चाहिए। उसे लेकर अभी तक क्या काम हुआ। पास में खड़े अधिकारियों ने हां में हां मिलाया। मुझे टाइमलाइन चाहिए कि कब तक काम पूरा होगा।


फूलों की बारिश
वहीं, ज्योतिरादित्य सिंधिया कुछ तस्वीरें ट्वीट की हैं। जिसमें उनका ग्रांड वेलकम हुआ है। लोगों ने उनके ऊपर फूलों की बारिश की। इसके साथ ही पटाखे भी फोड़े गए। इससे अभिभूत होकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लिखा कि शिवपुरी आगमन पर आप सभी ने जिस तरह से अपनत्व और स्नेह दिया है। उसके लिए सदैव ऋणी रहूंगा। आपके इस प्रेम से ही मुझे आपकी सेवा और समर्पण के लिए उर्जा मिलती है।

Congress Jyotiraditya Scindia
Muneshwar Kumar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned