मेघा पाटकर बोलीं- नए कृषि बिल में किसानों का नहीं, कारपोरेट कंपनियों का फायदा

तीनों कानून वापस करवाने के लिए दिल्ली के जंतर-मंतर पर करेंगे प्रदर्शन।

 

 

By: shatrughan gupta

Published: 25 Nov 2020, 09:59 PM IST

शिवपुरी. केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि बिल का विरोध करने के लिए सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने बुधवार को शिवपुरी के गांधी पार्क में हुंकार भरी। उन्होंने कहा, कृषि बिल के विरोध में 26 व 27 मई को दिल्ली में प्रदर्शन करेंगे। बिल के विरोध में उनके साथ देश भर के किसान हितैषी संगठनों के पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इनका काफिला शिवपुरी से ग्वलियर-आगरा होते हुए दिल्ली पहुंचेगा। पत्रकारों से चर्चा करते हुए मेधा ने कहा, जो कृषि बिल पास किया गया है, वह किसानों का हितैषी न होकर कारपोरेट जगत के लोगों (अडाणी व अंबानी) को फायदा होने वाला है। यदि इस बिल का विरोध नहीं किया तो फिर किसानों की पीड़ा को सुनने वाला कोई नहीं होगा। हमारी मांग है कि किसान को उसकी हर उपज का सही दाम मिले तथा स्वामी रंगनाथन आयोग की रिपोर्टों का पालन हो। एमएसपी का संवैधानिक निर्धारण करके किसान को उसकी उपज का सही दाम दिलवाया जाए। वे बोलीं- मंडियोंं में चल रहे भ्रष्टाचार को खत्म करने की दिशा में सरकार को पहल करना चाहिए थी, लेकिन सरकार ने मंडियां ही खत्म कर दीं, जिससे किसान को भविष्य में बहुत अधिक परेशानी से जूझना पड़ेगा। पाटकर ने कहा, हमारी केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से भी बात हुई, लेकिन उन्होंने बिल वापस करने के संबंध में कोई आश्वासन नहीं दिया। यानि सरकार का षड्यंत्र हैं कि किसानों का शोषण करके उसका लाभ कारपोरेट घरानों को दिया जाए। उन्होंने कहा, इस प्रदर्शन में शामिल होने के लिए देश के किसान हितैषी संगठनों के पदाधिकारी दिल्ली पहुंच रहे हैं। पंजाब से भी दो लाख किसान दिल्ली पहुंचने के लिए निकल रहे हैं।

कोलारस में भी विरोध में माहौल
केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए किसान बिल को ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन के पदाधिकारियों ने किसान विरोधी करार देते हुए 26 व 27 नवंबर को दिल्ली के जंतर-मंतर मैदान में इकट्ठा होने की बात कही। सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने कहा, इस समय पूरे देश का किसान इस बिल को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर रहा है। केन्द्र सरकार जो कानून लेकर आई है, वह किसान विरोधी है, जिसे तत्काल वापस लेना चाहिए।

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned