scriptMore than 9 lakh voters will elect 587 sarpanch | 587 सरपंच चुनेंगे 9 लाख से अधिक मतदाता | Patrika News

587 सरपंच चुनेंगे 9 लाख से अधिक मतदाता

गांव की सरकार बनाने की तैयारी प्रशासन ने भी शुरू कर दी। रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी अक्षय कुमार सिंह ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि एक प्रत्याशी चारों पदों पर चुनाव लड़ सकता है।

शिवपुरी

Published: December 05, 2021 10:32:11 pm

शिवपुरी. गांव की सरकार बनाने की तैयारी प्रशासन ने भी शुरू कर दी। रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला निर्वाचन अधिकारी अक्षय कुमार सिंह ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि एक प्रत्याशी चारों पदों पर चुनाव लड़ सकता है। वहीं गांव की सरकार में अहम भूमिका निभाने वाले पंचायत सचिवों के ट्रांसफर किए जाने का आदेश कई दिन पूर्व जारी होने के बाद भी प्रशासन ने इसमें देरी की और अब आचार संहिता लागू हो जाने से बरसों से एक ही पंचायत में डटे सचिव इस चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं। शिवपुरी जिले में 587 सरपंच 9748 पंचों के अलावा 184 जिला पंचायत सदस्य व 192 जनपद सदस्यों को चुनने के लिए 9 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी अक्षय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, एडीएम उमेश शुक्ला ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए तय की गई गाइड लाइन के बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान अधिकारियों से पूछे गए कुछ सवालों के तो जवाब उनके द्वारा तत्काल दे दिए गए, जबकि कुछ सवालों पर वे खुद भी उलझते नजर आए। एक तरफ चुनाव और दूसरी तरफ कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, ऐसे में प्रशासन को यह भी तय करना है कि गाइड लाइन का पालन करने के साथ ही निष्पक्ष चुनाव कैसे कराए जाएं। इसमें सबसे अहम मुद्दा यह भी आ रहा है कि आचार संहिता शनिवार की देर-दोपहर लगी है, जबकि चुनाव मैदान में किस्मत आजमाने वाले प्रत्याशियों ने पहले ही गांव में अन्नकूट सहित अन्य आयोजनों की घोषणा कर दी है और यह आयोजन यदि होते हैं तो यह सीधे-सीधे आचार संहिता का उल्लंघन कहलाएगा।
587 सरपंच चुनेंगे 9 लाख से अधिक मतदाता
587 सरपंच चुनेंगे 9 लाख से अधिक मतदाता
बरसों से जमे सचिव न हटाने से प्रभावित होंगे चुनाव
कुछ दिन पूर्व शासन के आदेश आए थे कि तीन साल से जमे पंचायत सचिवों का ट्रांसफर किया जाए। पंचायत सचिवों की राजनीतिक पकड़ मजबूत होने की वजह से प्रशासन उनकी ट्रांसफर सूची जारी नहीं कर सका। अब जबकि शनिवार को आचार संहिता लागू हो गई है, तो नियम विरुद्ध एक ही पंचायत में बरसों से जमे इन सचिवों को हटाना मुश्किल होगा। ऐसे में यदि उन्हें नहीं हटाया गया तो वे चुनाव को पूरी तरह से प्रभावित करेंगे। आज इस सवाल पर जिला निर्वाचन अधिकारी भी चुप्पी साध गए। हालांकि उन्होंने कहा कि हमारी सूची लगभग तैयार है।
जिले भर के जमा होंगे शस्त्र
चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद किसी भी प्रत्याशी द्वारा वोटर्स को प्रभावित करने के लिए किसी भी तरह का आयोजन कराया जाना प्रतिबंधित रहेगा। यदि ऐसा करता पाया गया तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। साथ ही अंचल सहित शहरी क्षेत्र में भी सभी शस्त्रधारियों को अपने शस्त्र संबंधित पुलिस थाने में जमा कराने होंगे। क्योंकि शहरी क्षेत्र के शस्त्रों से गांव के चुनाव को भी प्रभावित किया जा सकता है।
जिपं/जनपद सदस्य की ईवीएम से होगी वोटिंग
जिला पंचायत सदस्य व जनपद सदस्य के लिए मतदान ईवीएम से होगा, जबकि सरपंच व पंच का चुनाव वेलेट पेपर से होगा। इतना ही नहीं इनमें नोटा को भी शामिल किया गया है, यानि यदि किसी मतदाता को कोई भी प्रत्याशी पसंद नहीं आ रहा, तो वो नोटा पर वोट दे सकता है।
13 व 30 दिसंबर से शुरू होंगे नाम निर्देशन पत्र
त्रिस्तरीय निर्वाचन की सूचना का प्रकाशन तथा नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने का कार्य प्रथम और द्वितीय चरण के लिए 13 दिसंबर तथा तृतीय चरण के लिए 30 दिसंबर को शुरू होगा। नाम निर्देशन.पत्र प्राप्त करने की अंतिम तारीख प्रथम और द्वितीय चरण के लिए 20 दिसंबर और तृतीय चरण के लिए 6 जनवरी है। नाम निर्देशन.पत्रों की संवीक्षा प्रथम और द्वितीय चरण के लिए 21 दिसंबर तथा तृतीय चरण के लिए 7 जनवरी को होगी। अभ्यर्थिता से नाम वापस लेने की अंतिम तारीख और निर्वाचन प्रतीकों का आवंटन प्रथम और द्वितीय चरण के लिए 23 दिसंबर और तृतीय चरण के लिए 10 जनवरी को अपराह्न 3 बजे तक है। मतदान (यदि आवश्यक हों) प्रथम चरण के लिए 6 जनवरी, द्वितीय चरण के लिए 28 जनवरी और तृतीय चरण के लिए 16 फरवरी 2022 को सुबह 7 बजे से अपराह्न 3 बजे तक होगा।
मतगणना तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा
मतदान केंद्र पर पंच और सरपंच पद के लिए मतगणना मतदान समाप्ति के तुरंत बाद की जाएगी। जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य की विकासखंड मुख्यालय पर ईवीएम से मतगणना प्रथम चरण के लिए 10 जनवरी, द्वितीय चरण के लिए 1 फरवरी और तृतीय चरण के लिए 20 फरवरी को सुबह 8 बजे से की जाएगी। पंच और सरपंच पद के निर्वाचन परिणाम की घोषणा प्रथम चरण के लिए 11 जनवरी, द्वितीय चरण के लिए 2 फरवरी और तृतीय चरण के लिए 21 फरवरी को सुबह 10:30 बजे से की जाएगी। जनपद पंचायत सदस्य के लिए निर्वाचन परिणाम की घोषणा प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण के लिए 22 फरवरी को और जिला पंचायत सदस्यों के लिए 23 फरवरी को सुबह 10:30 बजे से की जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.