बैंकों में पैसा खत्म, बाजार ठप

बैंकों में पैसा खत्म, बाजार ठप
shivpuri

नोटबंदी के बाद से ही बाजार का कारोबार भी बैठ गया, तो लोगों के कई जरूरी काम भी ठप हो गए।


शिवपुरी।  शहर सहित जिले भर के बैंकों में अब नई करेंसी का पैसा खत्म हो गया। यह बात खुद लीड बैंक अधिकारी भी स्वीकार कर रहे हैं। किसी खाताधारक को यदि बहुत ही जरूरत है तो उसे दस के नोट की गड्डी या दस के सिक्कों की थैली आगे बढ़ाई जा रही। इन हालातों के बीच आमजन में चिंता गहराने लगी। बैंकों से यह आश्वासन दिया जा रहा है कि नई करेंसी सोमवार को आएगी। जिनके पास चलने वाले नोट आ गए, वो भी खर्च करने में संकोच कर रहे हैं, क्योंकि हालात कब तक सुधरेंगे, कोई कुछ नहीं बता रहा। नोटबंदी के बाद से ही बाजार का कारोबार भी बैठ गया, तो लोगों के कई जरूरी काम भी ठप हो गए। हर वर्ग परेशान हो रहा है, लेकिन उसे कोई ठोस आश्वासन कोई नहीं दे रहा।
गौरतलब है कि नोटबंदी के बाद महज चार दिन तक शिवपुरी के मुख्य डाकघर से बाजार में चलने वाली राशि बंटने के बाद बंद हो गई। इस बीच कई प्राइवेट बैंकों ने सिर्फ खातेधारकों को नोट बदलने की सुविधा दी, जबकि अधिकांश दिनों तक वे यही कहते रहे कि हमारे पास नई करेंसी नहीं है। एसबीआई की सभी ब्रांचों में अधिक समय तक नोट बदलने की प्रक्रिया जारी रही, लेकिन बाद में वहां भी खातेधारकों को ही राशि मिलती रही। गुरुवार तक तो इन बैंकों में नई करेंसी व बड़े नोट  के अलावा दस की गड्डियां मिलती रहीं, लेकिन शुक्रवार को वो राशि मिलना भी बंद हो गईं। अब तो बैंक आने वाले खातेधारकों को भी यही कहा जा रहा है कि सोमवार को जब नई करेंसी आएगी, तब राशि मिलेगी।

एटीएम पर लगी रही भीड़


बैंकों में पैसा खत्म होने की खबर शहर में फैलते ही शनिवार की सुबह से ही लोगों की भीड़ एटीएम पर नजर आई। स्थिति यह बनी कि दोपहर 12 बजे तक शहर के अधिकांश एटीएम में पैसा ही खत्म हो गया। जहां पर पैसा निकलता रहा, वहां उस समय तक लाइन लगी रही, जब तक पैसा निकलता रहा। शहर के आर्यसमाज रोड के अलावा सदर बाजार एवं कोतवाली रोड व कलेक्ट्रेट के एटीएम से पैसा मिलना बंद हो गया। चूंकि बैंकों के पास ही अब पैसा नहीं है, तो फिर खाली होने वाले एटीएम में राशि कहां से भरी जाएगी, यह भी एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है।


आने वाली है नई करेंसी
अब बैंकों में नई करेंसी के अलावा बड़े नोट भी खत्म हो गए। लोग भी असमंजस में हैं और जो राशि उन्होंने निकाल ली, वो भी खर्च नहीं कर रहे। जबकि जितना पैसा बैंकों से दिया गया है, यदि वो बाजार में चलता रहे, तो रोटेशन घूमता रहेगा। सोमवार तक नईकरेंसी व नए नोट आने की उम्मीद है।
राकेश सूद, लीडबैंक अधिकारी शिवपुरी


MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned