scriptPM housing not found, bank started asking for installment | पीएम आवास मिला नहीं, किस्त मांगने लगा बैंक | Patrika News

पीएम आवास मिला नहीं, किस्त मांगने लगा बैंक

केंद्र की प्रधानमंत्री आवास योजना ने भले ही कई गरीबों के सिर पर छत दे दी हो, लेकिन शिवपुरी जिला मुख्यालय पर यह जनहितैषी योजना मखौल बनकर रह गई।

शिवपुरी

Published: May 29, 2022 11:57:06 pm

शिवपुरी. केंद्र की प्रधानमंत्री आवास योजना ने भले ही कई गरीबों के सिर पर छत दे दी हो, लेकिन शिवपुरी जिला मुख्यालय पर यह जनहितैषी योजना मखौल बनकर रह गई। गरीबों के लिए अपना आशियाना एक सपना बनकर रह गया, क्योंकि 20 हजार की किस्त जमा कर कई हितग्राहियों ने बैंक से राशि फायनेंस करवा ली। नगरपालिका ने अभी तक मकान नहीं दिया, उधर बैक वाले किश्त मांगने लगे। महत्वपूर्ण बात यह है कि जो आवास मिलने हैं, उनमें भी मूलभूत सुविधाएं जैसे सड$क, बिजली, पानी की कोई सुविधा नहीं है।
पीएम आवास मिला नहीं, किस्त मांगने लगा बैंक
पीएम आवास मिला नहीं, किस्त मांगने लगा बैंक
गौरतलब है कि 5 साल पूर्व शिवपुरी शहर के 1030 गरीब परिवारों ने नगरपालिका शिवपुरी में 20-20 हजार रुपए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनकर मिलने वाले अपने आशियाने के लिए दिए थे। तब तय हुआ था कि 1 लाख 80 हजार रुपए की राशि किश्तों में जमा करनी होगी। अपना आवास पाने के लिए नगरपालिका में गरीब परिवारों की ऐसी भीड़ उमड़ी थी कि कई दिनों तक लोग अपने आवेदन व अन्य दस्तावेज लेकर नगरपालिका में पांच साल पूरे दिन लाइनों में लगे रहे। आवेदन जमा होने के बाद जब 26 अप्रैल 2017 को भूमिपूजन हुआ, तो नेताओं से लेकर अधिकारियों ने दावा किया था कि समय-सीमा में गरीबों को अपना आाशियाना मिल जाएगा। दी गई समयावधि गुजरने के बाद भी 4 साल गुजर गए, लेकिन अभी तक गरीब परिवारों को आशियाना नहीं मिल पाया।
दो मंत्रियों के सामने ठेकेदार ने किया था यह दावा
प्रधानमंत्री आवास योजना का वर्कआर्डर मै. जेआरजे ग्रुप को 19 अप्रैल 2017 को मिला था। उसके बाद 26 अप्रैल 2017 को हुए भूमिपूजन में कॉन्ट्रेक्टर सोनू भदौरिया ने कार्यक्रम में शामिल तत्कालीन नगरीय प्रशासन मंत्री मायाङ्क्षसह व कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे ङ्क्षसधिया के सामने कहा था कि यदि मुझे निर्माण एजेंसी यानि नगरपालिका से समय-समय पर भुगतान होता रहेगा तो मैं निर्धारित समय से पहले ही यह आवास बनाकर दे दूंगा। यह आवास 18 अप्रैल 2018 में पूरे होने थे, जो चार साल बाद आज भी अधूरे हैं।
मंत्री व सांसद तक से शिकायत, नतीजा सिफर
शिवपुरी विधायक व यशोधरा राजे माह में एक बार या कभी तो दो बार भी शिवपुरी आ जाती हैं, लेकिन उन्होंने भी इन गरीबों के आशियाने की सुध नहीं ली। गुना-शिवपुरी का संसद में नेतृत्व करने वाले सांसद डॉ. केपी यादव से भी प्रधानमंत्री आवास योजना को लगाए जा रहे पलीते की शिकायत की, लेकिन वो भी सुनकर ही रह गए। वे टाइगर को बसाने की तैयारियां पूछ रहे हैं, इधर गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री आवास में बसा नहीं पा रहे।
2 लाख भी जमा कर दिए, फिर भी 1 साल से टहला रहे: शर्मा
शिवपुरी निवासी संतोष शर्मा ने बताया कि मैने वर्ष 2017 में 20 हजार रुपए जमा किए थे, उसके बाद लोन लेकर 45-45 हजार रुपए की चार किस्तों में 1.80 लाख जमा किए थे। आखिरी किश्त जुलाई 2021 में जमा की, पिछले 1 साल से यह कहकर टहला रहे हैं कि जल्दी ही काम पूरा हो जाएगा। कोई धनीधोरी नहीं है।
किराया दें या किस्त जमा करेंं
प्रधानमंत्री आवास के लिए हमने 20 हजार रुपए जमा किए थे और बाद में हमें बैंक से राशि फायनेंस करवा दी। अभी तक न तो आवास बने और न ही हमें अभी तक मकान की चाबी मिली, लेकिन बैंक वालों के किस्त के लिए मैसेज आने लगे। समझ नहीं आ रहा किराया दें या किस्त?।
जयनारायण शर्मा, हितग्राही एबी रोड शिवपुरी
मकान मिले तो किराए से भर देंगे किस्त
हमें भी प्रधानमंत्री आवास के लिए बैंक से राशि फायनेंस हुई है। हमने सोचा था कि आवास मिल जाएगा, तो जो किराया मकान का दे रहे हैं, उसी को किस्त में जमा करते रहेंगे। मकान की चाबी तो मिली नहीं, किश्त के लिए मैसेज आने लगे। हमें तो कुछ समझ नहीं आ रहा कि क्या करें..?।
कुसुम कुशवाह, हितग्र्राही ग्वालियर नाका शिवपुरी
प्रधानमंत्री आवास में बैंक फायनेंस के बाद भी हितग्राहियों को भवन क्यों नहीं मिल पाए तथा बैंक उनसे किश्त कैसे और क्यों मांग रही है। इस संबंध में मैं पता करवाता हूं, साथ ही यह भी दिखवाता हूं कि इसमें देरी क्यों हो रही है।
अक्षय कुमार ङ्क्षसह, कलेक्टर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.