scriptPM Modi's appeal being held in Shivpuri failed... know how | शिवपुरी में हो रही पीएम मोदी की अपील फेल... जानिये कैसे | Patrika News

शिवपुरी में हो रही पीएम मोदी की अपील फेल... जानिये कैसे

सिंध से पानी सप्लाई में लीकेज से बर्बाद हो रही शहर की सडक़ें व पानी

13 साल बाद भी सिंध के साफ पानी व नियमित सप्लाई का शहर को इंतजार

शिवपुरी

Published: February 20, 2022 11:24:01 pm


शिवपुरी. पिछले दिनों देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानी के महत्व को समझाते हुए कहा था कि हमें पानी की बर्बादी पर रोक लगानी है तथा पानी का उपयोग प्रसाद की तरह करना चाहिए। उनके कहने के पीछे पानी की कीमत को पहचानना था, लेकिन शिवपुरी में पानी की बर्बादी किसी से छुपी नहीं है। जब भी सिंध की सप्लाई शुरू होती है, शहर में लगभग एक सैकड़ा से अधिक जगह पर पानी के फब्बारे चलने लगते हैं और लाखों लीटर पानी यूं ही नाले-नालियों में बह जाता है।
शिवपुरी में हो रही पीएम  मोदी की अपील फेल... जानिये कैसे
शिवपुरी में हो रही पीएम मोदी की अपील फेल... जानिये कैसे
सिंध जलावर्धन योजना के तहत पानी की सप्लाई शुरू हुए दो साल से अधिक का समय गुजर गया, लेकिन अभी तक उसके लीकेज दुरुस्त नहीं हो सके। जिसके चलते पानी की बर्बादी तो हो ही रही है, साथ ही सडक़ों को भी नुकसान हो रहा है। इतना ही नहीं अभी फायनल टच पर आ रही थीम रोड को भी पैवर्स के बीच में से निकल रहे पानी के बुलबुलों से खतरा बढ़ गया। महत्वपूर्ण बात यह है कि 13 साल का लंबा इंतजार और प्रोजेक्ट की लागत तीन गुना बढक़र लगभग 150 करोड़ रुपए होने के बावजूद शहरवासियों का अभी भी सिंध के साफ पानी और नियमित सप्लाई का इंतजार खत्म नहीं हुआ।
गौरतलब है कि ड्राई जोन हो चुके शिवपुरी शहर में पानी के लिए सिंध जलावर्धन योजना की शुरुआत सितंबर 2009 से हुई, लेकिन 2022 में भी पानी की सप्लाई शुरू होने पर जगह-जगह से पानी की बर्बादी शुरू हो जाती है। बीते दो दिन पूर्व महल कॉलोनी के सामने थीम रोड के किनारे फुटपाथ पर लगाए गए पैवर्स में से एकाएक पानी के बुलबुले निकलना शुरू हो गए। देखते ही देखते एक बड़े एरिया में पैवर्स के नीचे से पानी निकलने की रफ्तार इतनी तेज हो गई कि पानी तेज बहाव के साथ सडक़ से होता हुआ नाली में पहुंचने लगा। पानी के तेज फ्लो के चलते नाले में भी पानी का बहाव तेज हो गया। चूंकि पानी पैवर्स के नीचे से निकल रहा है, तो वहां सडक़ की स्थिति क्या होगी, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। यह तो महज उदाहरण है, जबकि इसी तरह के नजारे हर बार तब नजर आते हैं, जब भी सिंध की सप्लाई शुरू की जाती है।
प्रोजेक्ट पर नपा को भी नहीं है भरोसा
13 साल में जिस सिंध प्रोजेक्ट की लागत तीन गुना बढक़र 150 करोड़ रुपए तक हो गई, उस पर खुद नगरपालिका शिवपुरी को भरोसा नहीं है। यही वजह है कि अभी हाल ही में नपा ने ट्यूबवेलों में मोटर डालने व निकालने का लगभग 2 करोड़ रुपए का टेंडर किया है। यानि नपा के जिम्मेदार भी जानते हैं कि सिंध की सप्लाई कभी भी ठप हो सकती है, इसलिए ट्यूबवेलों के मेंटेनेंस का कारोबार भी चलता रहेगा, क्योंकि गर्मियों में अधिकांश बोर पानी देना ही बंद कर देते हैं।
बर्बादी गंभीर नहीं
सर्दी की विदाई के साथ ही गर्मी ने भी दस्तक देना शुरू कर दिया। ऐसे में शिवपुरी शहर में पानी का संकट गहराना भी शुरू हो जाएगा। बावजूद इसके सिंध जलावर्धन योजना की डिस्ट्रीब्यूशन लाइन में हुए सैकड़ों लीकेज से हो रही पानी की बर्बादी को रोकने के प्रति कोई भी जिम्मेदार गंभीर नहीं है। नपा सीएमओ व एई अभी तक कई बार यह कह चुके हैं कि हम डिस्ट्रीब्यूशन लाइन का काम कर रही कंपनी से बात करके लीकेज सुधरवा रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई सुधार नजर नहीं आया।
एबी रोड पर तो वो लीकेज सडक़ ठेकेदार द्वारा पानी की लाइन को डैमेज करने की वजह से हुआ था। डिस्ट्रीब्यूशन का काम कर रही बगसिया कंपनी शहर में उतनी गति से लीकेज नहीं ंसुधार रही, जितनी जरूरत है। उसके भुगतान का इश्यू है, जिसके चलते उसकी गति धीमी है।
सचिन चौहान, एई जल शाखा नगरपालिका शिवपुरी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी, इन राज्यों में आंधी और बारिश की अलर्टLucknow: क्या बदलने वाला है प्रदेश की राजधानी का नाम? CM योगी के ट्वीट से मिले संकेतजमैका के दौरे पर गए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने क्यों की सलवार-कुर्ता की चर्चा, जानिए इस टूर में और क्या-क्या हुआबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनगेहूं के निर्यात पर बैन पर भारत के समर्थन में आया चीन, G7 देशों को दिया करारा जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.