MP Assembly by-election: इस्तीफा देने वाले विधायक 5 साल के लिए अयोग्य हों

सपाक्स पदाधिकारियों ने की मांग।

By: shatrughan gupta

Published: 15 Sep 2020, 10:04 PM IST

शिवपुरी. इस्तीफा देने वाले विधायकों को 5 साल के लिए अयोग्य घोषित कर उनकी रैली एवं चुनावी सभाओं पर रोक लगाई जाए। उक्त मांग करते हुए सपाक्स के पदाधिकारियों ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त के नाम डिप्टी कलेक्टर अंकुर गुप्ता को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन का वाचन सपाक्स जिलाध्यक्ष महेंद्र जैन ने किया। ज्ञापन में उल्लेख किया है कि मार्च माह में मप्र के 22 विधायकों व बाद में 2 अन्य विधायकों ने अपने निजी स्वार्थ की खातिर जनता को धोखा देकर एक निर्वाचित सरकार को गिराकर मप्र में अकारण ही 24 विधानसभाओं में उपचुनाव का खर्चा व कोरोना संक्रमण में लोगों की जान का खतरा बढ़ा दिया। इतना ही नहीं विधायकों ने इस्तीफा देकर पाला बदला और फिर चुनाव लडऩे की तैयारी करने लगे। एक तरफ जहां कोरोना महामारी के चलते लोगों की जान को खतरा बना हुआ है, वहीं दूसरी ओर उपचुनाव के फेर में यह इस्तीफा देेने वाले नेताओं से लेकर मंत्री व सांसद तक भीड़ इकट्ठा कर चुनावी सभाएं व रैलियां कर रहे हैं, जिससे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। अभी हाल ही में जिले के पोहरी व करैरा में हुई चुनावी सभाओं में न केवल हजारों लोगों की भीड़ उमड़ी, बल्कि व्यवस्थाओं में जुटे कलेक्टर व एसपी सहित अन्य पुलिसकर्मी बड़ी संख्या में कोरोना पॉजीटिव हो गए। इसलिए इस्तीफा देने वाले सभी विधायकों को पांच साल के लिए अयोग्य घोषित किया जाकर उनकी चुनावी रैलियां व सभाओं को स्थगित कराया जाए। यदि आवश्यक हो तो उपचुनाव में केवल प्रत्याशी व उनके पांच समर्थक ही घर-घर जाकर प्रचार कर सकें, इसकी अनुमति दी जाए। ज्ञापन सौंपने वालों में सूरज जैन, हरीशंकर दुबे, एसके पटेरिया, राजीव गुप्ता, अजीत जैन, संतोष तिवारी, भूपेंद्र यादव, आशुतोष शर्मा, अंकित जैन, दीपक ओझा भी मौजूद रहे।

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned