नियमों की उड़ी रही धज्जियां, अधिकारियों का ध्यान नहीं..

जानकारी मुताबिक लोगों ने पानी की समस्या को लेकर रास्ते में पत्थर रखकर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने बताया कि मोहल्लों के घरों में नलों से पानी नहीं आता, लाइन ठीक नहीं है। पानी देने वाला कर्मचारी भी गड़बढ़ करता है।

By: shatrughan gupta

Updated: 24 May 2020, 09:28 PM IST

मनपुरा। जिले के पिछोर अनुविभाग की मनपुरा पंचायत के चौरसिया मोहल्ले में शनिवार को 2 वॉर्डो में नलों से पानी ना आने की समस्या को लेकर आधा सैकड़ा से अधिक लोग लॉकडाउन के नियमों को भूलकर एक ही जगह पर विरोध करने के लिए एकत्रित हो गए।

इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान नहीं रखा गया और ना ही कोई मास्क लगाकर आया था। ऐसे में जहां पेयजल संकट से लोग परेशान है वही अब इस बीमारी का संक्रमण फैलने का भी डर बना हुआ है।

जानकारी मुताबिक लोगों ने पानी की समस्या को लेकर रास्ते में पत्थर रखकर जाम लगा दिया। ग्रामीणों ने बताया कि मोहल्लों के घरों में नलों से पानी नहीं आता, लाइन ठीक नहीं है। पानी देने वाला कर्मचारी भी गड़बढ़ करता है।

पंचायत द्वारा टैंकर की व्यवस्था नहीं है। लोग तेज गर्मी में पानी के लिए खासे परेशान है। पंचायत के सरपंच व सचिव से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मनपुरा में जलस्तर ठीक है, स्रोत भी पर्याप्त है कुछ घरों को छोड़कर पानी की कोई समस्या नहीं है।

हालांकि पाइपलाइन पर काम चल रहा है लेकिन पंचायत चुनाव आने के फेर में चंद लोग प्रत्याशी की तैयारी में हैं। कुछ लोग रात को पाइपलाइन डैमेज कर देते हैं और सुबह लोगों को जमा करके अपनी अगुवाई में माहौल और मुद्दा बनाते हैं फिर भी यदि कोई बात है तो पानी की व्यवस्था कराते है।

यह बोले जिम्मेदार-

कभी लाइट ना होने के कारण टंकी नहीं भर पाती और नलों में सप्लाई देर से हो पाती है। पानी की कोई समस्या नहीं है। इसके बाद भी कोई दिक्कत है तो नियम व बीमारी के हिसाब से विरोध करना चाहिए।

राम बिहारी शर्मा, सचिव, पंचायत मनपुरा

कुछ लोग जबरदस्ती का मुद्दा बनाकर मुझे बदनाम करने में लगे है। टैंकर भेजता हूं तो दबंगई से खुद ही उपयोग कर लेते है फि र भी खुद सुरक्षित होकर समस्या रखें।

अतुल पहारिया, सरपंच मनपुरा

shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned