पुलिस की लाठियों के वीडियो देखकर शहर नहीं आ रहे ग्रामीण दुकानदार

ऐसे में उन दुकानों से हर दिन का राशन लेने वाले ग्रामीणों के घर में फांकाकशी की नौबत आ गई।

By: rishi jaiswal

Published: 28 Mar 2020, 09:12 PM IST

शिवपुरी/अमोला। कोरोना वायरस की वजह से शिवपुरी सहित देशभर में लगे कफ्र्यू का असर अब ग्रामीण क्षेत्रों में स्पष्ट नजर आने लगा है, क्योंकि ग्रामीण इलाकों में स्थित छोटी दुकानों पर माल कम होने पर पहले उसे अधिक रेट में बेचा गया और जब सामान ही खत्म हो गया तो दुकान बंद कर दी। ऐसे में उन दुकानों से हर दिन का राशन लेने वाले ग्रामीणों के घर में फांकाकशी की नौबत आ गई।


अमोला क्रमांक-एक, दो व तीन में दो किराने की दुकानें हैं, जिनमें कफ्र्यू के कुछ दिनों तक तो सामान मिलता रहा, लेकिन अब उन दुकानों पर भी सामान खत्म हो गया, तो दुकानदार ने शटर ही बंद कर दी। चूंकि ग्रामीण क्षेत्रों के लोग राशन आदि लेने के लिए शहर तक नहीं आते, बल्कि वो अपनी पूरी खरीदारी गांव की दुकान से ही करते हैं।

ऐसे में उनके घर का चूल्हा नहीं जल पा रहा। वहीं दूसरी ओर गांव के छोटे दुकानदार शिवपुरी शहर में थोक विक्रेताओं के पास नहीं आ रहे, क्योंकि उन्होंने वाट्सऐप ग्रुपों में पुलिस द्वारा कफ्र्यू के दौरान बरसाई गई लाठियों के वीडियो देख लिए। ऐसे में गांव की दुकानें बंद और वहां से राशन लेने वाले ग्रामीणों के घर में आटा-दाल आदि मिलना बंद होने से उनके घर का चूल्हा नहीं जल रहा है।

यह हो तो बने बात
ग्रामीण क्षेत्र का पंचायत सचिव या तहसीलदार वहां से छोटे दुकानदारों का पास बनाएं, ताकि वे शिवपुरी शहर में थोक दुकानदारों से राशन लेने आ सकें। उस पास के आधार पर वे कफ्र्यू में भी खरीदारी कर सकते हैं तथा अपनी दुकान का सामान ले जाने के बाद ग्रामीणों को वो दे सकते हैं।

rishi jaiswal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned