ज्योतिरादित्य सिंधिया बोले- 15 महीने नोट और अब कमलनाथ मांगने आ रहे वोट

सिंधिया ने कसा पूर्व मुख्यमंत्री पर तंज, गिनाईं अपनी उपलब्धियां।

By: shatrughan gupta

Published: 26 Oct 2020, 09:32 PM IST

शिवपुरी. जिले के पोहरी विधानसभा क्षेत्र MP assembly by-elections के छर्च में सोमवार को राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान सिंधिया ने कहा, कमलनाथ ने 15 माह तक सीएम रहते हुए वल्लभ भवन में नोट कमाए और अब चुनाव में वोट मागने आ रहे हैं। उन्होंने कहा, जो परदेशी हो वे क्या जाने किसान और गरीब आदिवासी का दर्द। उन्होंने कहा, क्या कमलनाथ 15 महीने मुख्यमंत्री रहते हुए कभी छर्च आए, लेकिन अब वोट मांगते घूम रहे हैं। सिधिया ने कहा, वर्ष 2001 को जब मैं पहली बार छर्च आया था, तब एक तरफ राजस्थान व दूसरी तरफ मप्र की सीमा होने की वजह से यह क्षेत्र दोनें तरफ से कटा हुआ था। आवागमन की सुविध्या नहीं होती थी, तब रिश्ते लेकर लोग आते थे तो लोग झिझकते थे। तब मैंने 50 करोड़ की सड़क बनवाकर आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराई। सिंधिया ने कहा, मुझे लाल बत्ती की अभिलाषा नहीं है, यदि आपके दिल में मुझे थोड़ी सी जगह मिल जाए, यही मेरे लिए काफी है। उन्होंने कहा, यह आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है, जगल और जमीन आदिवासियों का हक बनता है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि मैंने आदिवासियो की लड़ाई हमेशा लड़ी है और जीवन के आखिरी क्षण तक लडूंगा। छर्च के साथ मेरा विकास और प्रगति का रिश्ता है। सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने जो वायदे जनता से किए थे, उन्हें पूरा नहीं किया, इसलिए मैने कांग्रेस के गद्दारों को सरकार गिराकर धूल चटा दी। सिंधिया ने कहा कि यदि कमलनाथ की सरकार होती तो पोहरी में सरकुला डैम कभी स्वीकृत नहीं हो पाता, क्योंकि वो सरकार विकास कराने नहीं बल्कि नोट कमाने बनी थी।

मेरी दादी ने भी गिराई थी सरकार
सिंधिया ने कहा, सन 1967 में मेरी दादी ने मप्र में कांगेस की डीपी मिश्रा की सरकर बनाई थी। उस सरकार ने जब जनविरोधी नीतियों पर काम किया तो मेरी दादी ने सड़क पर उतरकर कांग्रेस की सरकार गिराई थी। भूल गए कांग्रेस के लोग कि यह उसी सिंधिया परिवार का खून है, जो भ्रष्टाचार व जनविरोधी नीतियों को बर्दाश्त नहीं करत है और यदि ऐसा होता है तो वो गद्दारों को सबक सिखाता है।

कन्यादान को बोल गए लाड़ली लक्ष्मी
सिंधिया ने अपने भाषण में कमलनाथ सरकार पर यूं तो बहुत कटाक्ष किए, लेकिन वे कन्यादान योजना को लाड़ली लक्ष्मी योजना बताते हुए बोले कि कांग्रेस सरकार ने वायदा किया था कि 51 हजार रुपए देगे, लेकिन एक धेला भी नहीं दिया। इसी तरह बेरोजगारों को भी रोजगार भत्ता देने का वायदा किया था, परंतु किसी को कुछ नहीं दिया।

आपके सामने नतमस्तक हूं
उद्बोधन के अंत में ज्योतिरादितय सिंधिया ने छर्च की जनता से कहा कि मैं दोनों हाथ जोड़कर नतमस्तक हूं। आप अपना वोट सुरेश को देना ताकि आपके क्षेत्र में विकास हो सके। आप लोग मुट्ठी बांधकर मेरे साथ संकल्प लो।

Jyotiraditya Scindia Kamal Nath
shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned