शिवपुरी बाजार में असमंजस में रहे दुकानदार

गौरतलब है कि शिवपुरी में दुकानों को खोले जाने के लिए पुलिस व प्रशासन ने व्यापारियों के साथ बैठक करने के बाद देर दोपहर दुकानों को खोलने का टाईम-टेबल तय किया गया।

By: rishi jaiswal

Published: 05 May 2020, 06:27 PM IST

शिवपुरी। ग्रीन जोन शिवपुरी शहर में प्रशासन द्वारा आदेश-निर्देश जारी तो जारी कर दिए गए, लेकिन दुकान खोलने के लिए तय किए गए टाइम-टेबल के बैनर नहीं लगाए।

जिसके चलते मंगलवार को दुकानदार असमंजस में रहे कि हम दुकान सुबह खोलें या दोपहर में। न.पा के कर्मचारियों को भी पता नहीं था कि किस दुकान पर कौन सा बैनर लगाना है।

दोपहर में बाजार के हालात देखने के लिए एडीएम आरएस बालौदिया, एसडीएम अरविंद वाजपेयी व ट्रैफिक प्रभारी रणवीर यादव अपनी टीम के साथ निकले।

इस दौरान कई ऐसी दुकानें खुली मिलीं, जिन्हें आज खोलना ही नहीं था। ऐसी दुकानों को बंद करवाने के साथ ही दुकानदारों को चेतावनी दी कि यदि नियम तोडऩे का प्रयास किया तो कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि शिवपुरी में दुकानों को खोले जाने के लिए पुलिस व प्रशासन ने व्यापारियों के साथ बैठक करने के बाद देर दोपहर दुकानों को खोलने का टाईम-टेबल तय किया गया।

जिसमें आस-पड़ोस की दुकानों को सुबह 9 से 2 तथा दोपहर 2 से 7 बजे तक तथा सकरी सड़कों की दुकानों को सप्ताह में २ दिन खोलने के लिए दिन तय किए गए।

जिसके लिए बैनर बनाकर न.पा को दुकानों के ऊपर लगाने थे, लेकिन हर काम की तरह न.पा ने इस काम में भी लापरवाही बरती, जिसके चलते शहर की सभी दुकानों पर यह बैनर नहीं लग सके।

आज सुबह जब बाजार में दुकानदार पहुंचे, तो कई क्षेत्र ऐसे थे, जहां बैनर लगाए ही नहीं गए। चूंकि बैनर में दिन व समय लिखा हुआ है, इसलिए दुकानदार अपने प्रतिष्ठान पर लटकने वाले बैनर को लगवाने का इंतजार ही करते रहे।

महत्वपूर्ण बात यह है कि न.पा के जिन कर्मचारियों पर बैनर लटकाने की जिम्मेदारी दी गई, उन्हें यह नहीं मालूम था कि किस दुकान पर कौन सा बैनर लगाना है। जिसके चलते पूरे बाजार में हौच-पौच की स्थिति बनी रही।

बैनर लगाने वाले ही अनजान

आज सुबह न.पा सीएमओ अपनी टीम के साथ बाजार में निकले। न.पा की 6 टीम बाजार के विभिन्न क्षेत्रों में बैनर लेकर तो निकलीं, लेकिन उन्हें यह नहीं पता था कि कौन सा बैनर किस दुकान पर लगाया जाएं।

कोर्ट रोड पर हनुमान मंदिर के पास वाली गली में दुकानें सुबह से बंद रहीं तथा दुकानदार न.पा की टीम को घेरे खड़े रहे। टीम का नेतृत्व कर रहे योगेश शर्मा कोना पकड़कर अधिकारियों से पूछ रहे थे कि कौन सा बैनर कौन सी दुकान पर लगाना है?। नाराज दुकानदार यह कह रहे थे कि बिना जानकारी के बैनर लेकर आ गए, अब हम कब अपनी दुकान खोलेंगे।

खुली मिलीं कई नियम विरुद्ध दुकानें

सुबह लगभग 10.30 बजे एडीएम आरएस बालौदिया, एसडीएम अरविंद वाजपेयी व ट्रैफिक प्रभारी रणवीर सिंह यादव बाजार में यह देखने पैदल निकले कि नियमों का कितना पालन किया जा रहा है।

इस दौरान उन्हें एक ज्वैलर्स की ऐसी दुकान भी खुली मिली, जिसके ऊपर बैनर में बुधवार व शनिवार का दिन तय किया गया। अधिकारियों ने दुकान बंद करवाकर दुकानदार को यह चेतावनी दी कि यदि अब नियम विरुद्ध दुकान खोली, तो कार्रवाई की जाएगी।

इसी तरह एक मिठाई की दुकान को भी अधिकारियों ने बंद करवाया। कई दुकानों पर सेनेटाइजर व रजिस्टर नहीं मिले, जबकि आने वाले ग्राहक का नाम-पता व मोबाइल नंबर उस रजिस्टर में लिखना है। टायमिंग के बैनर लगाने में हो रही देरी को देखते हुए ट्रैफिक प्रभारी खुद ही स्कैच पेन से नंबर लिखते नजर आएं।

बाजार खुलवाने में प्रशासन की कुछ खामियां

शहर का मुख्य बाजार कोर्ट रोड पर है, लेकिन बाजार खुलने के समय उसके आसपास के चौराहों पर बेरीकेट्स लगाकर रास्ते बंद कर दिए। ऐसे में बाजार में खरीदी करने आने वालों को परेशानी होगी।

दुकानों के खुलने का अलग-अलग समय तय किया गया, ऐसे में यदि बाइक सवार ग्राहक बाजार आएगा तो उसे बाइक पार्किंग के लिए पड़ोस की दुकान के सामने की जगह खाली मिलेगी। जिससे बाजार में पार्किंग की सुविधा भी मिल जाएगी।

शहर के बाजार में दुकानें खुलने के साथ ही लोगों की भीड़ ऐसी उमड़ी कि सोशल डिस्टेंसिंग भी नजर नहीं आई। बाजार में तैनात पुलिसकर्मियों को दुकानों की टायमिंग की मॉनीटरिंग के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करवाना है।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned