फिर फूटी सिंध जलावर्धन योजना की पाइप लाइन

शहर में पानी की आपूर्ति करने वाली सिंध जलावर्धन योजना के तहत डाली गई पाइप लाइन शनिवार को फिर से हाइवे किनारे फूट गई। जिसके चलते हजारों लीटर पानी न केवल बर्बाद हो गया, बल्कि यह चिंता भी सताने लगी कि कहीं पिछली बार की तरह इस बार भी शहर में गंभीर जल संकट उत्पन्न न हो जाए।

By: rishi jaiswal

Published: 20 Feb 2021, 10:25 PM IST

शिवपुरी. शहर में पानी की आपूर्ति करने वाली सिंध जलावर्धन योजना के तहत डाली गई पाइप लाइन शनिवार को फिर से हाइवे किनारे फूट गई। जिसके चलते हजारों लीटर पानी न केवल बर्बाद हो गया, बल्कि यह चिंता भी सताने लगी कि कहीं पिछली बार की तरह इस बार भी शहर में गंभीर जल संकट उत्पन्न न हो जाए।

गौरतलब है कि बीते सोमवार को सिंध की सप्लाई आठ दिन के बाद शुरू हुई थी और अब पांच दिन बाद फिर पाइप लाइन उसी जगह से लीकेज हो गई, जहां से पहले टूटी थी। हाइवे पर राम स्टील के पास सीवर लाइन का मिलान करने के लिए सडक़ को गहराई में खोदा था, जिसके चलते पानी की लाइन हवा में लटक गई थी। जैसे ही पानी का प्रेशर लाइन पर आया तो उसमें पाइप ही अलग हो गए थे। जिसके चलते जब आठ दिन तक शहर में सिंध की सप्लाई नहीं हुई हुई थी तो पूरे शहर में पानी के लिए हाहाकार मच गया था। आज फिर वहीं से फिर पाइप लाइन फूट जाने से न केवल पानी की बर्बादी हो गई, बल्कि निर्माणाधीन थीम रोड में भी पानी भर गया। पाइप लाइन फूटने से शहरवासियों की चिंता एक बार फिर बढ़ गई, क्योंकि शहर के अधिकांश हिस्से में सिंध की सप्लाई पहुंचती है।
नपा के जिम्मेदारों ने नहीं किए फोन रिसीव
एक तरफ पानी की लाइन फूट गई, उधर नपा के जिम्मेदारों ने भी कोई जवाब देने की बजाए फोन उठाना ही बंद कर दिया। नपा के प्रभारी सीएमओ जीपी भार्गव व एई सचिन चौहान को कई बार फोन लगाए, लेकिन उन्होंने एक भी फोन रिसीव नहीं किया। ऐसा लगता है कि शायद वे भी अब जवाब देने की स्थिति में नहीं हैं।

लापरवाह है नपा
हमने तो अब शिवपुरी के इस प्रोजेक्ट पर ध्यान देना ही बंद कर दिया। नपा सीएमओ व एई कोई जवाब ठीक से नही देते हैं। कर्मचारियो को चार माह से वेतन नहीं दिया गया, ऐसे में वो काम कैसे करेंगे। हमने भी कह दिया है कि फूटी लाइन को जोडऩे का काम आराम से करो।
महेश मिश्रा प्रभारी ओम कंस्ट्रक्शन कंपनी

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned