मगरौनी में स्मैक का चलन जोरों पर, एक सैकड़ा से अधिक युवा गिरफ्त में

नशे के खिलाफ एकजुट हुए लोग, चौकी प्रभारी को सौंपा ज्ञापन

नरवर. मगरौनी कस्बा इन दिनों स्मैक के नशे को लेकर काफी परेशानी में है। यहां के करीब एक सैकड़ा से अधिक युवा इस नशे की गिरफ्त में हैं। दो दिन पूर्व इसी नशे के आदि एक युवक ने खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद से कस्बे के लोग इस नशे के खिलाफ एकजुट होकर शुक्रवार को पुलिस चौकी प्रभारी से मिले और आवेदन देकर इस नशे पर रोक लगाने की मांग की। चौकी प्रभारी ने 8 दिन का समय इस कार्रवाई के लिए मांगा है।


जानकारी के मुताबिक मगरौनी कस्बे में कुछ रसूखदार व बदमाश टाइप के लोग करीब एक साल से स्मैक का जहर युवाओं को बेच रहे हैं। यह नशा अब धीरे-धीरे पूरे मगरौनी के साथ आसपास के गांव में भी पहुंच चुका है। दो दिन पूर्व इसी नशे के शिकार एक युवक ने कीटनाशक गटककर अपनी जान तक दे दी थी। इस पूरे मामले को लेकर नगर के प्रतिष्ठित लोग नशे के खिलाफ एकजुट हुए और चौकी प्रभारी पुनीत बाजपेयी के पास पहुंचे और आवेदन देकर इस नशे पर रोक लगाने की मांग की। चौकी प्रभारी ने भी 8 दिन का समय इस कार्रवाई के लिए लोगों से मांगा है। ज्ञापन के माध्यम से कस्बे के समाजसेवी संदीप परमार ने बताया कि कुछ समय से मगरौनी कस्बे में स्मैक का सेवन किया जा रहा है जिसके चलते एक युवक की मौत तक हो चुकी है। इसी संदर्भ में शुक्रवार को एक ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की गई है, नहीं तो आगे आंदोलन किया जाएगा। ज्ञापन के दौरान पूर्व विधायक रमेश खटीक, मगरौनी सरपंच कमल किशोर शिवहरे, सरवन सिंह गुर्जर, जंडेल सिंह गुर्जर, हरचरण सोनी, संतोष सिंह राजपूत, मुकेश खटीक, तेजप्रताप जादौन, अनुराग गौर, पंजाब सिंह रावत आदि समाजसेवी मौजूद थे।

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned