scriptTapkeshwar Mahadev Shivling was established by the fall of meteorite | उल्का पिंड गिरने से पहाड़ी की तलहटी में स्थापित हुआ था शिवलिंग | Patrika News

उल्का पिंड गिरने से पहाड़ी की तलहटी में स्थापित हुआ था शिवलिंग

टपकेश्वर महादेव मंदिर में साल भर जल की धारा से शिवलिंग पर होता रहता है जलाभिषेक

शिवपुरी

Published: August 02, 2022 08:42:08 pm

शिवपुरी. शिवपुरी जिले के पिछोर कस्बे से 15 किमी दूरी पर ग्राम पंचायत ढला व मुहार के बीच विशालकाय पहाड़ी की तलहटी में प्राचीन टपकेश्वर महादेव मंदिर अपनी नैसर्गिक सौंदर्यता व ऐतिहासिकता के कारण दूर-दूर तक प्रसिद्ध है। बरसात के दिनों में यह स्थान पर्यावरण को धारण कर रोमांचक व रमणीय हो जाता है। यहां विराजमान शिवलिंग के ऊपर अनवरत पानी की धारा सालभर टपकती रहती है।

patrika_mp_shivpuri_pichhor_shivling_was_established_by_the_fall_of_meteorite___tapkeshwar_mahadev.jpg

ग्रामीणों व आसपास के लोगों की मानें तो गर्मी के दिनों में भी सूखा पड़ने के बाद भी इस मंदिर में स्थापित शिवलिंग पर पानी टपकता है। इसलिए इस मंदिर का नाम टपकेश्वर महादेव पड़ा है। वैसे तो सालभर इस मंदिर पर भक्तों का आना लगा रहता है, लेकिन श्रावण के महीने, शिवरात्रि व मकर संक्रांति पर यहां आने वालों की संख्या हजारों में हो जाती है। मंदिर पर इन विशेष अवसरों पर मेले भी लगते हैं। मंदिर पर शिव अभिषेक तथा धार्मिक आयोजन चलते रहते हैं। मंदिर परिसर में स्थित कुंडों में शीतल जल की कई धाराएं बहती रहती हैं। एक गोमुख से हमेशा पानी निकलता है।

उल्का पिंड गिरने के बाद बना था मंदिर
बरसात के दिनों में पहाड़ी से तेज धार में गिरता हुआ पानी मनोरम झरने का रूप ले लेता है। जहां तक ऐतिहासिक प्रमाणिकता की बात करने पर पता चलता है कि सैकड़ों वर्ष पहले विशाल पर्वत के रूप में यहां उल्का पिंड गिरा था, जिसने धीरे-धीरे करके यह रूप ले लिया। इसमें अथाह पानी भरा हुआ है।

पाडंवों का अज्ञातवास का स्थान भी रहा था
इतिहासकारों की मानें तो यह मंदिर पांडवों का अज्ञातवास का स्थान रहा है जिसके बीजक और शिलालेख भी विद्यमान हैं। बताया जाता है कि यहां से निकलते वक्त एक झील में पांडवों के कुछ घोड़ों ने झील का पानी पी लिया था, जिससे उनकी मौत हो गई थी और क्रोध में आकर भीम ने एक विशाल पहाड़ को उलटकर झील को पाट दिया था। बाद में कुंडों का निर्माण कर मीठे जल की धारा प्रवाहित की गई। इसके बाद पांडवों ने इस गुफा में भगवान शिव की स्थापना कर पूजा-अर्चना की थी। कई सिद्ध महात्माओं ने इस मंदिर परिसर में जिंदा समाधि ली हुई है जिस पर चबूतरा और फिर मंदिर निर्मित हो गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बीजेपी नेता श्रीकांत त्यागी पर बड़ा एक्शन, बुलडोजर से ढहाया जा रहा अवैध निर्माण, मिली लोकेशनBihar Politics: राजद और JDU मिल जाए तो बिहार में आराम से बन सकती है सरकार, जानिए क्या है आंकड़ेJammu-Kashmir News: टेरर फंडिंग मामले में डोडा और जम्मू जिले में NIA की छापेमारीKhatu Shyamji Stampede Sikar Rajasthan : भगदड़ में लोगों की मौत से दुखी हूँ, शोक सन्तिप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना : PM ModiKhatu Shyam Temple Stampede : खाटूश्यामजी में बड़ा हादसा: एकादशी के मेले में मची भगदड़ से तीन महिलाओं की मौत, चार श्रद्धालु घायल- देखें VIDEOबिहार में सियासी उलटफेर की आंशका, CM नीतीश कुमार ने सोनिया गांधी से की बात, सभी विधायकों को बुलाया पटनाMaharashtra: संजय राउत की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, 'सामना' में छपे कॉलम के बाद अब ED करेगी जांच; पढ़ें डिटेल्सCM KCR आज करेंगे 15 दिवसीय स्वतंत्र भारत वज्रोत्सव का शुभारंभ, 1.20 करोड़ ध्वज निशुल्क वितरित, कवि सम्मेलन-रैलियां होगी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.