दुकाने हटाने गए तहसीलदार पर हमला, आधा सैकडा लोगों पर एफआईआर

कार्रवाई के बाद दोपहर में तहसीलदार ने 80 स्टॉलों को तोड़ दिया

शिवपुरी/पिछोर. तहसीलदार आवास के पास रखे एक स्टॉल को हटाने गए तहसीलदार के साथ शनिवार सुबह स्टॉल के मालिक सहित कुछ अन्य लोगों ने मारपीट कर दी। फिर तहसीलदार ने न केवल उस स्टॉल को जेसीबी से तुड़ा बल्कि नगर पंचायत से लेकर रन्नौद रोड तक रखे करीब 80 स्टॉलों को तुड़वा दिया। दुकानदारों को इतना मौका भी नहीं दिया गया कि वे दुकान से सामान भी निकाल सकें। तहसीलदार ने थाने में करीब दो दर्जन से अधिक लोगों के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज कराई।
पिछोर तहसीलदार दीपक शुक्ला के बंगले के पीछे पवन सेन का हेयर कटिंग का स्टॉल था, जिसे वो शुक्रवार शाम को आसपास से पक्का करवा रहा था। शनिवार सुबह तहसीलदार इस स्टॉल को हटवाने के लिए पहुंचे और ट्रैक्टर-ट्रॉली मंगवा ली। बातचीत के दौरान ट्रैक्टर ने दुकानदार में टक्कर मार दी, जिससे उसे चोट लग गई। गुस्साए दुकानदारों ने तहसीलदार के साथ हाथापाई कर दी। पिटाई से भडक़े तहसीलदार ने नगर पंचायत सीएमओ व पुलिस टीम को साथ लेकर जेसीबी से बीएसएनएल ऑफिस, पीडब्लूडी कार्यालय, रेस्ट हाउस के सामने, एसडीएम क्वाटर के सामने, नगर पंचायत से लेकर रन्नौद रोड, डाक बंगला तक कुल 80 अस्थाई अतिक्रमणों को तोड़ दिया। कई महिला दुकानदार रोती व गिडगड़़ाती रहीं, लेकिन तहसीलदार एक नहीं सुनीं।
तहसीलदार ने इनके खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर
पिछोर तहसीलदार दीपक शुक्ला ने पुलिस थाना पिछोर में रिपोर्ट लिखाई है कि मेरे भवन की दीवार पर अतिक्रमण कर दुकान सजाई जा रही थी। जब मैं अपने अधीनस्थ अमले के साथ उसे हटवाने गया तो दुकानदारों ने लाठियों से हमला कर दिया। जिसमें मुझे व मेरे चौकीदार सहित एक अन्य कर्मचारी को चोट आई हैं। तहसीलदार की रिपोर्ट पर पुलिस ने दुकानदार पवन सेन, वीरेंद्र जोगी, बृजेश जोगी, सतेंद्र बुंदेला, उपेंद्र चौहान, अशोक जोगी, टिल्लू जोगी, सोंटी, बल्लू, नरेश, कालूराम सेन, लक्ष्मण सेन, पुरुषोत्तम जोगी, राजकुमार, लखन, वृंदावन जोगी की पत्नी व अन्य करीब 15 महिलाएं व 25 पुरुष के खिलाफ मारपीट सहित शासकीय कार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज कर लिया। खास बात यह है कि तहसीलदार के साथ घटना करीब सुबह 9 बजे हुई और उन्होंने एफआईआर में घटना का समय 11 बजे का बताया। साथ ही घटना के दौरान उनके साथ कोई नहीं था जबकि एफआईआर में पूरा अमला उन्होने अपने साथ होना बताया।
यह बोले एसडीएम

तहसीलदार व अमला अतिक्रमण हटाने गए थे, तो कुछ दुकानदारों ने उन पर हमला बोल दिया। सभी को हटाने के लिए टाइम दिया था। ऐसा नहीं है कि बदले की कार्रवाई की गई। जिन लोगों ने मारपीट की, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी।
उदय सिंह सिकरवार, एसडीएम पिछोर

Show More
Rakesh shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned