डेंजर स्पॉट का निरीक्षण कर अंधे मोड़ को खत्म करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

कोरोना संक्रमण अब कुछ कम हुआ है तो फिर प्रशासन ने दूसरे कामों पर भी नजर डालना शुरू कर दिया। इसी क्रम में गुरुवार की सुबह कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह अधीनस्थ अधिकारियों को साथ लेकर फोरलेन बायपास से ककरवाया को जोडऩे वाली सडक़ पर पहुंचे।

By: rishi jaiswal

Published: 20 May 2021, 11:23 PM IST

शिवपुरी. कोरोना संक्रमण अब कुछ कम हुआ है तो फिर प्रशासन ने दूसरे कामों पर भी नजर डालना शुरू कर दिया। इसी क्रम में गुरुवार की सुबह कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह अधीनस्थ अधिकारियों को साथ लेकर फोरलेन बायपास से ककरवाया को जोडऩे वाली सडक़ पर पहुंचे। जहां उन्होंने मौका मुआयना करने के साथ ही अंधे मोड़ को खत्म करके पुलिया चौड़ी करने के निर्देश दिए। ज्ञात रहे कि पांच माह में यहां पर चार गंभीर हादसे हुए, जिसमें एक की जान चली गई, जबकि चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।


ज्ञात रहे कि फोरलेन बायपास पर स्थित ग्राम ककरवाया को जोडऩे वाली जो सडक़ है, उसमें गांव की ओर से आने वाले रास्ते पर चढ़ाई होने के साथ ही वहां एक सकरी पुलिया व अंधा मोड़ है। चूंकि गांव के लोग चढ़ाई चढऩे के बाद उस अंधे मोड़ से होकर जैसे ही फोरलेन पर आते हैं तो वहां से निकलने वाले तेज रफ्तार वाहन की चपेट में आकर हादसों का शिकार हो रहे थे। जिसे गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल के अलावा एसडीएम शिवपुरी अरविंद वाजपेयी, कोतवाली व देहात थाना टीआई एवं यातायात प्रभारी मौका मुआयना करने उस डेंजर प्वाइंट पर पहुंचे। कलेक्टर ने इस डेंजर प्वाइंट से खतरे के सभी स्पॉट खत्म करने के निर्देश अधीनस्थों को दिए। उन्होंने कहा कि सकरी पुलिया को चौड़ा किया जाए तथा गांव से आने वाले रास्ते की घाटी को खत्म करके उसे समतल करने के साथ ही वहां मौजूद अंधे मोड़ को सीधे रास्ते में बदला जाए। ताकि गांव की तरफ से आने वाले रास्ते से होकर आने वाले लोगोंं को फोरलेन से गुजरने वाले वाहन स्पष्ट नजर आ सकें तथा वे सावधानी से फोरलेन पर आकर हादसों का शिकार होने से बच सकें।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned