लॉक डाउन के पहले दिन शहर की सडक़ों पर पसरा सन्नाटा

बुधवार से नवरात्रि शुरू हो गई है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा था कि लोग सुबह-सुबह माता के दर्शनों के लिए घरों से निकए घरलेंगे, परंतु लॉक डाउन का पालन करते हुों में ही पूजा अर्चना करना मुनासिब समझा। इस कारण उन्होंने अपने घरों में ही पूजा अर्चना की, इसके अलावा पूरे बाजार में भी दुकानें बंद रहीं।

By: rishi jaiswal

Updated: 25 Mar 2020, 09:54 PM IST

शिवपुरी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार रात 12 बजे से देश भर में लॉक डाउन की घोषणा किए जाने के बाद बुधवार को लॉक डाउन के पहले दिन शहर की सडक़ों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। लोगों ने पहले दिन तो लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन किया और अपना पूरा समय घरों में ही बिताया।


बुधवार से नवरात्रि शुरू हो गई है। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा था कि लोग सुबह-सुबह माता के दर्शनों के लिए घरों से निकए घरलेंगे, परंतु लॉक डाउन का पालन करते हुों में ही पूजा अर्चना करना मुनासिब समझा।

इस कारण उन्होंने अपने घरों में ही पूजा अर्चना की, इसके अलावा पूरे बाजार में भी दुकानें बंद रहीं। जनता ने भी पहले दिन लॉक डाउन का पूरा पालन किया।

पत्रिका ने शहर के झांसी तिराहा, गुरुद्वारा चौराहा, राजेश्वरी रोड, कोतवाली रोड, कोर्ट रोड, अस्पताल चौराहा, पोहरी रोड, एबी रोड सहित कई क्षेत्रों में जाकर हालातों का जायजा लिया।

सभी सडक़ें पूरी तरह से सुनसान पड़ी हुई थीं, कुछ कुछ चौराहों पर जरूर इक्का-दुक्का पुलिसकर्मी ड्यूटी पर तैनात नजर आए।


चार घंटे की भी रियायत नहीं, लोग परेशान

जिला प्रशासन ने सामान्य रूप से चार घंटे की जो रियायत आम जनता को खरीददारी करने के लिए तथा बाजार खुलने के लिए दी थी। बुधवार से वह रियायत भी बंद कर दी गई, इस कारण लोग सब्जी, पैट्रोल, दवा, दूध जैसी आवश्यकत वस्तुओं के लिए भी परेशान होते देखे गए।

कुछ लोगों ने जरूर चोरी छिपे किसी तरह अपने लिए उक्त सामग्री की व्यवस्था कर ली।

rishi jaiswal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned