नए सीएस का ट्रांसफर, पुराने सीएस स्टे पर डटे

shyamendra parihar

Publish: Dec, 07 2017 10:57:56 (IST)

Shivpuri, Madhya Pradesh, India
नए सीएस का ट्रांसफर, पुराने सीएस स्टे पर डटे

त्रिवेदिया बने सीएमएचओ अशोकनगर...


शिवपुरी. जिला अस्पताल में पिछले पांच माह से दो सिविल सर्जन (सीएस) की लड़ाई चलती रही। पूर्व सीएस का दो बार ट्रांसफर करने के बाद भी जब उन्हें शासन शिवपुरी से रवानगी नहीं दे पाया तो गुरुवार को एक अन्य ट्रांसफर सूची जारी करके नए सीएस को अशोकनगर जिले का सीएमएचओ (मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी) बनाकर ट्रांसफर कर दिया। बड़ा सवाल यह है कि नए सीएस का ट्रांसफर कर दिया, लेकिन पूर्व सीएस को शिवपुरी के चार्ज का आदेश नहीं दिया तो फिर सीएस कौन रहेगा...?।
गौरतलब है कि जिला अस्पताल के पूर्व सीएस डॉ. गोविंद सिंह का लगभग छह माह पूर्व हड्डी रोग विशेषज्ञ के पद पर श्योपुर ट्रांसफर किया गया था तथा उनकी जगह भिंड से डॉ. जेआर त्रिवेदिया को शिवपुरी अस्पताल का सीएस बनाया था। ट्रांसफर होने के बाद भी डॉ. सिंह श्योपुर नहीं गए तथा कोर्ट से स्टे ले आए। बाद में डॉ. सिंह की इच्छा के अनुरूप उनका ग्वालियर ट्रांसफर किया गया, तथा शिवपुरी अस्पताल से उन्हें रिलीव भी कर दिया गया। लेकिन डॉ. सिंह ग्वालियर भी नहीं गए, बल्कि कोर्ट से स्टे लेकर शिवपुरी अस्पताल में ही सुबह-शाम हाजिरी भरते रहे। जब शासन दो बार ट्रांसफर करके भी डॉ. गोविंद सिंह को शिवपुरी से रवानगी नहीं दे पाया तो फिर आज एक अन्य आदेश जारी हुआ, जिसमें डॉ. त्रिवेदिया को अशोकनगर का सीएमओ बनाया गया। डॉ. त्रिवेदिया का तो ट्रांसफर आदेश जारी हो गया, लेकिन डॉ. गोविंद सिंह के संबंध में कोई आदेश नहीं आया। ऐसे में डॉ. त्रिवेदिया के अशोकनगर जाने पर जिला अस्पताल शिवपुरी में सीएस की कुर्सी खाली रहेगी, क्योंकि डॉ. सिंह अभी कोर्ट स्टे पर अस्पताल में हैं। ऐसे में डॉ. सिंह अघोषित सीएस बने रहेंगे।
शासन ने पहले आदेश किया तो हम शिवपुरी आ गए। अब आदेश में अशोकनगर सीएमओ बनाकर ट्रांसफर किया है, तो हम उस आदेश का पालन करेंगे। शिवपुरी में सीएस कौन होगा, यह अभी तय नहीं है, क्योंकि डॉ. सिंह के संबंध में कोई आदेश नहीं आया है।
डॉ. जेआर त्रिवेदिया, सीएस शिवपुरी अस्पताल
प्रसूता को लेकर जा रही कार सडक़ पर फंसी
शिवपुरी ञ्च पत्रिका. शहर की करौंदी बस्ती को जाने वाला रास्ता खराब होने की वजह से वहां रहने वाले लोगों को परेशानी करना पड़ रहा है। खस्ताहाल सडक़ होने के साथ-साथ ही आसपास के लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है। करौंदी में रहने वाले अजहरुद्दीन कुर्रेशी की भाभी को प्रसव पीड़ा होने पर बुधवार की रात जब कार से लेकर आ रहे थे, तो रास्ते में कार फंस गई। कार को निकालने के लिए स्थानीय लोगों की मदद से कार को धक्का निकालकर बमुश्किल बाहर निकाला जा सका। इसके बाद प्रसूता को अस्पताल पहुंचाया गया।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned