पुरानी चौपाल को नया दर्शाकर सरकारी खाते से निकाल लिए दो लाख रुपए

अनुविभाग की ग्राम पंचायत चिनोद में हर निर्माण कार्य में बड़े पैमाने पर घालमेल किया जा रहा है। हालात यह है कि पुरानी चौपाल को ही नया दर्शाकर सरकारी खाते से दो लाख रुपए निकाल लिए गए। इसके अलावा अन्य निर्माण कार्यों में भी यही हालात है। बड़ी बात यह है कि शिकायतों के बाद भी सरपंच व सचिव पर कोई कार्रवाई नहीं

By: rishi jaiswal

Published: 12 Feb 2021, 11:44 PM IST

शिवपुरी/करैरा. अनुविभाग की ग्राम पंचायत चिनोद में हर निर्माण कार्य में बड़े पैमाने पर घालमेल किया जा रहा है। हालात यह है कि पुरानी चौपाल को ही नया दर्शाकर सरकारी खाते से दो लाख रुपए निकाल लिए गए। इसके अलावा अन्य निर्माण कार्यों में भी यही हालात है। बड़ी बात यह है कि शिकायतों के बाद भी सरपंच व सचिव पर कोई कार्रवाई नहीं
की जाती।

ग्राम चिनोद निवासी महेंद्र कुशवाह ने बताया है कि ग्राम चिनोद में गुप्ता दाल मिल के सामने नारायण बाग में 10 से 12 साल पुराना चबूतरा देवताओं का है। इस पुराने चौपाल व चबूतरा को सरपंच सचिव ने फर्जी बाड़ा कर कागजों में ही नए चबूतरे में दर्ज कर पूरी दो लाख रुपए की राशि आहरित कर ली। इसके अलावा शौचालय निर्माण में भी भारी भृष्टाचार किया गया है। इसमें कई अपात्रों के नाम जोडक़र पात्र लोगों को छोड़ दिया गया। साथ ही कई जगह तो बिना शौचालयों के ही पैसे निकाल लिए गए। इस पूरे गोरखधंधे में सरपंच व सचिव के साथ जनपद पंचायत के इंजीनियर, लिपिक के साथ सीइओ तक मिले रहते है,क्योंकि इन मामलों में तमाम शिकायतों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होती, सिर्फ जांच ही चलती रहती है।

भैंस पालन सेट के नाम पर निकाले 5 लाख
ग्राम चिनोद में मिडिल स्कूल व पंचायत भवन के पीछे 5 लाख की लागत से बना भैंस पालन सेट जो 2009 में स्वीकृत हुआ था। इसका काम 2019 मे पूर्ण हुआ जो बहुत ही घटिया स्तर से बनाया गया और निर्माण कार्य में आधी भी राशि को खर्च नहीं किया। जबकि राशि पूरी 5 लाख रुपए निकाल ली गई। इधर जनपद के सीईओ व इंजीनियर ने बिना मूलयाकंन किए है कि पूरे बिल का भुगतान कर दिया।


हमारे गांव में जितने भी निर्माण कार्य हुए हंै। उन सभी में बड़े पैमाने पर भृष्टाचार हुआ है। शौचालय, सीसी सडक़ निर्माण, भैंस पालन सेट, चैक डेम आदि कार्यों में घालमेल किया गया है।
महेंद्र कुशवाह ग्रामीण चिनोद


मेरी तो शौचालय तक नहीं बनी और मेरे नाम से शौचालय का पैसा सरपंच ने अपने खाते में डालकर निकाल लिया। इसकी जांच होना चाहिए।
बालकिशन, हितग्राही चिनोद

यह बोले जिम्मेदार
चबूतरा निर्माण मेरे समय का नहीं है। पूर्व के सरपंच व सचिव ने जो काम छोड़ दिए थे। वह हमने पूरे कराए थे। हमारे द्वारा पुरानी चौपाल का कोई नया बिल नहीं बनाया गया।
मनोज गुप्ता, पंचायत सचिव

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned