यूरिया की कालाबाजारी में साधन सहकारी समिति के 10 सचिवों पर एफआईआर

जिला कृषि अधिकारी ने की सख्त कार्रवाई, जिले में मचा हड़कंप

By: Mahendra Pratap

Updated: 12 Sep 2020, 05:57 PM IST

श्रावस्ती. यूरिया की कालाबाजारी किये जाने की जांच के बाद श्रावस्ती जिला कृषि अधिकारी आरपी राणा ने साधन सहकारी समिति के 10 सचिवों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कार्रवाई है। इस कार्रवाई के बाद जिले में हड़कंप मच गया है। इस एफआईआर की कार्रवाई में सिरसिया, इकौना, मल्हीपुर, सोनवा व गिलौला के साधन सहकारी समिति के सचिव शामिल हैं।

श्रावस्ती जिले में यूरिया की क़िल्लत होने से जिले के किसान काफी दिनों से परेशान हैं। यूरिया के लिए किसान सुबह शाम साधन सहकारी समिति के चक्कर काट रहे हैं। इसके बावजूद भी किसानों को यूरिया नही मिल पा रहा है जिससे कि वे अपनी धान की फसलों में यूरिया डाल सकें। किसान बेचारा यूरिया के लिए सुबह आकर साधन सहकारी समिति पर बैठ जाता और शाम को खाली हाथ लौट जाता। ये आलम एक सहकारी समिति का नही है जिलेभर में अधिकांश किसानों को यूरिया के लिए निराशा ही हाथ लगी। खाद वितरण में हेरा फेरी मामले की शिकायत के बाद जिला कृषि अधिकारी आरपी राणा ने जब इसकी जांच की तो यूरिया की कालाबाज़ारी का खेल खुलकर सामने आ गया। जांच में इस बात की पुष्टि हुई कि सचिवों ने एक ही आदमी को 91 से 250 बोरी तक यूरिया दे डाला। वहीं इस खुलासे से जिले में हड़कम्प मच गया है। वहीं जांच के बाद जिला कृषि अधिकारी आरपी राणा द्वारा जिले के 10 साधन सहकारी समिति के सचिवों के खिलाफ एफआईआर की कार्रवाई की गई है।

इन सचिवों पर हुई कार्रवाई - खाद वितरण में हेराफेरी मामले को लेकर जिले के गिलौला इलाके के 3, इकौना इलाके के 2, सिरसिया इलाके के 2, भिनगा इलाके के 1, सोनवा इलाके के 1 और मल्हीपुर इलाके के 1 सचिव के खिलाफ जिला कृषि अधिकारी आरपी0 राणा द्वारा एफआईआर की कार्रवाई करवाई गई है।

इस संबंध में जिला कृषि अधिकारी आरपी राणा बताते हैं कि किसानो के खाद वितरण में हेराफेरी की शिकायत मिली थी। जिसकी जांच के बाद दोषी पाए गए 10 सचिवों के खिलाफ एफआईआर की कार्रवाई की गई है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned