नदी पार करते वक्त नाव से गिरी महिला, मौत

 


ककरा घाट पर बना होता पुल तो बच जाती महिला की जान

श्रावस्ती. इकौना थाना क्षेत्र के ककरा घाट पर पति के साथ नाव पर बैठ कर राप्ती नदी को पार रही एक महिला नाव से नीचे नदी में गिर गई। जिसके बाद लोगों ने स्थानीय गोताखोरों की मदद ली लेकिन महिला का कहीं पता नही चला। दूसरे दिन महिला का शव भुतहा गांव के पास उतराता मिला। जिसके बाद परिवारीजनों ने पुलिस को बिना सूचना दिए उसका अंतिम संस्कार कर दिया। स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर ककरा घाट का पुल बना होता तो महिला की जान बच सकती थी।

दरअसल इकौना थाना क्षेत्र के नरायन जोत गांव के मजरा शिवपुरा निवासी छोटकऊ सोमवार को अपनी पत्नी छोटका (28) के साथ इकौना बाज़ार खरीददारी करने गया था। जहां से शाम को लौटते समय वह ककरा घाट पर राप्ती नदी को एक छोटी नाव पर बैठकर पार करने लगा। नाव जैसे ही बीच धार में पहुंची की अचानक उसका संतुलन बिगड़ गया। और छोटका (28) नदी में गिर गई। जब तक नाव में बैठे लोग कुछ समझ पाते छोटका नदी में डूब गई। उस पार पहुंचने पर स्थानीय गोताखोरों की मदद से नदी में छोटका की तलाश कराई पर पर उसका कहीं पता नही चला और दूसरे दिन मंगलवार को छोटका की लाश घाट से कुछ दूरी पर भुतहा गांव के पास उतराती मिली। जिसके बाद परिजनों ने बिना पुलिस को सूचना दिए छोटका का अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं गांव में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि अगर ककरा घाट का पुल बना होता तो छोटका की जान बच सकती थी। वहीं इस संबंध में इकौना थाना प्रभारी निरीक्षक राम कृपाल शुक्ला बताते हैं कि उन्हें इस घटना की कोई जानकारी नही है।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned