इधर लगातार हो रहे तबादले, उधर बढ़ रहा अपराध का ग्राफ

इधर लगातार हो रहे तबादले, उधर बढ़ रहा अपराध का ग्राफ
Crime

पिछले एक सप्ताह से पुलिस विभाग में चल रहा तबादले का दौर, थानेदारों-सिपाहियों के तबादले से अपराधियों ने उठाया सिर

सिद्धार्थनगर. जिले में अपराध पर अंकुश लगाने का एसपी का दांव उलटा पड़ता दिख रहा है। जिस उम्मीद के साथ एसपी ने अपराध पर अंकुश लगाने को पुलिस कप्तान ने एक दो बार नहीं बल्कि तीन-तीन बार थानेदारों का तबादला करने के साथ ही उन्हें ताश की पत्ते की तरह जमकर फेंटा, इसके बाद भी अपराध पर अंकुश लगने के बजाय जिले में अपराधियों ने सिर उठाना शुरू कर दिया। जिले में अपराध पर अकुश लगाने को लेकर एसपी पिछले एक सप्ताह से लगातार थाने पर तैनात चेहरों की अदला बदली कर रहे हैं। इसके बाद भी जिले में अपराध की तस्वीर नहीं बदल रही। इसके उलट अपराधियों ने सिर उठाना शुरू कर दिया है। जबकि पहले से ही जिले के आधा दर्जन से अधिक थानों में हत्या व लूट सहित कई ऐसे मामले हैं जिनका छह माह बाद भी खुलासा नहीं हो सका है। जिससे जिले में अपराध का ग्राफ घटने के बजाय बढ़ता जा रहा है। 






पहली बार जिले के सभी थानेदारों की अदला बदली के बाद जब तक थानेदार अपने इलाकों को समझ पाते कि उससे पहले ही अपराधियों ने सिर उठाते हुए चोरी की घटनओं को अंजाम देना शुरू कर दिया। वह भी कहीं दूर नहीं बल्कि जिला मुख्यालय पर ही एक ही रात आधा दर्जन से अधिक स्थानों पर चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर अपराधियों ने पुलिस को खुली चुनौती है। चोरी भी किसी के घर में नहीं बल्कि कलेक्ट्रेट परिसर व जनपद न्यालय में हुई। अभी पुलिस कुछ समझ पाती कि इससे पहले ही चोरों ने शहर के ही दो घरों सहित एक दुकान में चोरी की घटना को अंजाम दिया। सदर थाने से त्रिलोकपुर थाने की कमान संभालन वाले जिले के दबंग कहे जाने वाले एसओ शिवाकांत मिश्र को भी अपराधी चुनौती देने में पीछे नहीं रहे। यहां पर भी अपराधियों ने एक ही रात दो घरों में चोरी की घटना को अंजाम दिया। इसके अलावा इटवा, शोहरतगढ़, बांसी क्षेत्रों में भी एक सप्ताह के भीतर चोरी की घटनाओं में इजाफा हुआ। जिसको लेकर पुलिस के जिम्मेदार भी परेशान है। 





रविवार को हुआ 81 पुलिसवालों का तबादला

अपराधी भले ही सिर उठा रहे हो लेकिन जिले में थानेदारों के साथ अन्य पुलिसवालों के तबादले का दौर थम नहीं रहा है। अभी थानेदारी चोरियों का खुलासा करने का मंथन कर ही रहे थे कि रविवार को एसपी ने एक साथ 81 पुलिसवालों को फेट कर इधर से उधर कर दिया। पिछले एक सप्ताह से पुलिस महकमे में हो रहे लगातार तबादले से विभागीय लोगों में भी हड़कम्प है। हर कोई अपनी तैनाती स्थल से जाने को तैयार खड़ा है। पुलिस वालों की चर्चा पर गौर करें तो सभी यह कह रहे कि यहां पर कब किसका तबादला कहां हो जाय यह नहीं कहा जा सकता है। ऐसे में तबादले के लिए तैयार रहने में ही भलाई है। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned