एक साथ जली चार युवाओं की चिता, गम में डूबे लोग

एक साथ जली चार युवाओं की चिता, गम में डूबे लोग
road accident

हादसे में चार युवकों की मौत से शोक में डूब गया इलाका, यमुना-आगरा एक्सप्रेस वे पर मंगलवार की रात हुआ था हादसा

सिद्धार्थनगर. यमुना-आगरा एक्सप्रेसवे पर मंगलवार की रात मार्ग दुर्घटना में डुमरियागंज थाना क्षेत्र के बेंवा चौराहे पर रहने वाले चार युवकों की मौत से पूरा इलाका शोक में डूब गया। वहीं घटना में घायल छह अन्य की आगरा के कृष्णा अस्पताल में इलाज चल रहा है। मौत की खबर आम होते ही लोग गम के साए में डूब गए। गुरुवार को जब चारों युवाओं की चिता राप्ती नदी पर एक साथ जली तो किसी का कलेजा जेसे मुंह को आ गया। सभी की आंखे आसूंओं से भींग गई।

बेंवा चौराहे पर किराना, इलेक्ट्रानिक की दुकान चलाने वाले सौरभ अग्रहरि(22), विजय अग्रहरि (18), श्यामू उर्फ प्रिंस अग्रहरि ( 21), राहुल (23), रवि कुमार (17), कयूम (20), गणेश ( 21), शादाब (24), आनन्द  (20), सुहेल (20) सौरभ की स्कार्पियों से  26 जून को नेपाल के रवाना हुए थे। इसके बाद सभी नेपाल से ही आगरा के लिए रवाना हो गए। आगरा पहुंच कर ताज महल सहित अन्य पर्यटक स्थलों का भ्रमण कर मंगलवार को घर के लिए वापस चल दिए थे। अभी वे लोग मथुरा जिले के बलदेव थाना क्षेत्र के माइल स्टोन 135 के समीप पहुंचे ही थे कि रास्ते में खड़ी ट्रैक्टर-ट्राली से टकरा गए। इसी दौरान पीछे से आ रही बस ने भी ठोकर मार दिया।


यह भी पढ़ें:

शादी के लिए कलेक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठी महिला



इसमें स्कार्पियो में सवार सौरभ अग्रहरि पुत्र कन्हैया कुमार, विजय अग्रहरि पुत्र खजांची, व राहुल पुत्र हनुमंत प्रसाद की मौके पर ही जबकि श्यामू उर्फ प्रिंस पुत्र दुर्गाशंकर की अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने घटना की सूचना डुमरियागंज पुलिस को दी। घटना की सूचना आम होते ही बेंवा चौराहे पर मातम छा गया।

इंसानियत की दिखी अनोखी मिसाल
एक ही चौराहे पर व्यापार करने वाले परिवार से जुडे़ चार नौजवानों की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत की खबर सुनकर जहां पूरे क्षेत्र के लोग बेंवा की तरफ दौड़ पडे़ वहीं बेंवा चौराहे पर दुकानदारी करने वाले सभी धर्मों के लोगों ने दुकानें बंद रख इंसानियत की मिशाल पेश की। सभी व्यवसायी पीड़ित परिवारीजनों को सांत्वना देने में जुटे रहे।

जनप्रतिनिधियों ने बेंवा पहुंच जताया शोक
सड़क हादसे में चार युवकों की दर्दनाक मौत की सूचना पाते ही सांसद जगदम्बिका पाल, पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी, सपा नेता राम कुमार उर्फ चिन्कू यादव, जिलापंचायत अध्यक्ष गरीब दास, पूर्व ब्लॉक प्रमुख सलमान मलिक, सैयदा खातून, नपा अध्यक्ष प्रतिनिधि मधुसूदन अग्रहरि आदि जनप्रतिनिधियों ने पीड़ित परिवारीजनों के घर पहुंच कर शोक जताया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned