मांग पर अड़े रहे एनएचएम संविदा कर्मी, नहीं किया काम

डीपीएम, डीसीपीएम को हटाए जाने से है नाराज, मांग नहीं माने जाने पर अन्य सेवाओं को ठप करने की धमकी

By: Akhilesh Tripathi

Published: 24 May 2018, 10:05 PM IST

सिद्धार्थनगर. एक दर्जन जिलों के डीपीएम, डीसीपीएम, डीएएम व अन्य ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों कर्मचारियों को बिना कारण हटाए जाने से नाराज राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संविदा अधिकारियों व कर्मचारियों की हड़ताल दूसरे दिन भी जारी रही। कर्मचारियों ने कार्यालयों में कोई कार्य नहीं किया। संगठन के पदाधिकारियों ने कहा कि जब तक उक्त के संबंध में उचित निर्णय नहीं लिया जाता है तब तक कलम बंद हड़ताल जारी रहेगा।

 

गुरुवार को भी जिले से लेकर ब्लॉक तक तैनात राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के विभिन्न संवर्ग के अधिकारियों व कर्मचारियों ने मांगों को लेकर कमलबंद हड़ताल किया। पदाधिकारियों ने कहा कि प्रांतीय कार्यकारिणी के नेतृत्व में आगे की रणनीति तय की जाएगी।

 

यह भी पढ़ें:

शिक्षामित्रों ने दी चेतावनी, हमारी नहीं मानी गई, तो 2019 चुनाव में इस सरकार को देंगे करारा जवाब

 

कर्मचारियों का समर्थन करते हुए यूपी मेडिकल एंड पब्लिक हेल्थ मिनिस्ट्रियल एसोसिएसशन के जिलाध्यक्ष दीपेन्द्र मणि त्रिपाठी ने कहा कि अधिकारियों का तानाशाही पूर्ण रवैया कर्मचारी बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमारा संगठन संविदा कर्मचारियों के साथ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों की हितैषी नहीं है। सरकार कर्मचारियों के हितों को दर किनार कर काम कर रही है जिसको लेकर सभी कर्मचारियों में असंतोष है।

 

धरनारत संगठन के जिलाध्यक्ष मनीष पांडेय, मंत्री दिनेश मिश्रा, हर्ष कुमार यादव ने कहा कि जब तक हटाए गए कर्मचारियों को समम्मान वापस नहीं बुलाया जाता है तब तक आंदेालन जारी रहेगा। बिना कारण बताए अधिकारियों को हटाया जाना गलत है। अधिकारियों की इस तरह के तानाशाही रवैए को बर्दाश्त नही किया जाएगा। जरूरत पड़ी तो आंदोलन को और तेज किया जाएगा।

 

इस दौरान समीर सिंह, डीपीएम राजेश शर्मा, डीएएम राजेश मिश्रा, डॉ.विजय कुमार यादव, कुशल टंडन, प्रवीण कुमार, संदीप पाठक, रवि चौधरी, राजकुमार वर्मा, रमाकांत चतुर्वेदी, रवि पाठक, सतीश श्रीवास्तव, शत्रुघन, सुनील दत्त सहित जिले भर के अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

 

BY- SURAJ KUMAR

Akhilesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned