शिकायतों के निस्तारण में सिद्दार्थनगर जिला फिर बना नंबर वन

शिकायतों के निस्तारण में सिद्दार्थनगर जिला फिर बना नंबर वन

समस्या से पीडित व्यक्ति की शिकायत दर्ज नही की गई

सिद्दार्थनगर. यूपी के अति-पिछड़े आठ जिलों में भी है लेकिन ये जिला लगातार चार महीने से प्रदेश में अव्वल नंबर हासिल कर रहा है। जी हां बीते चार माह से लगातार आईजीआरएस पोर्टल में की गई शिकायतों के निस्तारण में पहले स्थान पर बना हुआ है । बीते फरवरी माह की जारी आईजीआर एस रैंकिग में सिद्धार्थनगर पुनः प्रथम स्थान पर चुना गया। जिले के एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने इस उपलब्धि को प्राप्त करने में सहयोगी कर्मचारियों को 5000 रुपये से पुरुस्कृत करने की घोषणा की है । पहले अक्सर यह सुनने को मिलता था कि किसी समस्या से पीडित व्यक्ति की शिकायत दर्ज नही की गई ।

ऐसे लोगो की सहायता हेतु उत्तर प्रदेश में आईजीआरएस प्रणाली का शुभारंभ किया गया । इसके माध्यम से अब पीड़ित व्यक्ति ऑनलाइन माध्यम से अपनी समस्या को दर्ज करवा सकता है । बात करे बीते फ़रवरी माह की तो जिले के लोगो ने कुल 223 शिकायते ऑनलाइन माध्यम से की थी। जिन्हे निस्तारित करने में पुलिस विभाग ने खासी सक्रियता निभाई और समय सीमा के अंदर प्राप्त सभी शिकायतों को निस्तारित कर दिया । जिससे यह जिला यूपी के अन्य जिलो को पीछे छोड़ते हुए आईजीआरएस से प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की रैंकिग में पहले स्थान चयनित हुआ है । इससे भी अधिक गर्व की बात यह है कि यह उपलब्धि जिले को लगातार चार महीने से प्राप्त हो रही है ।

आईजीआरएस के तहत की गई शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल , पीजी पोर्टल , ऑनलाइन माध्यम से की गई शिकायतें ,जिलाधिकारी के यहां की गई शिकायतें व समाधान दिवस में पीड़ितों के द्वारा की जाती है । जिले के लिए गर्व की बात यह है कि अतिपिछड़े जिलों में भी अब ऑनलाइन शिकायतों के निस्तारण में विभाग के कर्मचारी खासी सक्रियता दिखा रहे है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned