खुद को योगी सरकार से भी बड़ा मानता है यूपी का ये विधायक! कहा- हमारे मन थानें में तैनात होंगे दरोगा

थानेदारों की ट्रांसफर पोस्टिंग करा रहे विधायक

सिद्धार्थनगर. यूपी में बीजेपी सत्ता में भले हो, सूबे की सरकार सीएम योगी आदित्यनाथ भले ही चला रहें हो। प्रदेश के डीजीपी सुलखान के काम की चर्ची जितनी भी हो। पर सिद्दार्थनगर जिले में भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) के विधायक खुद को ही सरकार समक्ष रहे हैं। ये बातें इसलिए कि शोरथगढ़ विधायक का एक पत्र वायरल हुआ है। जिसमें बाकयदा थानाध्यक्षों के ट्रान्सफर पोस्टिंग की बात लिखी गई है। जिले के पुलिस अधीक्षक के नाम से लिखे गये इस पत्र में ट्रान्सफर-पोस्टिंग करने को विधायक ने अपनी जिम्मेदारी बताया है। इतना ही नहीं विधायक ने ये बातें भी इस पत्र में लिखा है  कि जनता ने उन्हे चुनकर भेजा है तो कौन अच्छा है कौन बुरा है ये तय करना उनका काम है। विधायक जी इसे गलत भी नहीं मानते उनका कहना है कि ये तो उनका अधिकार है।

 

 

दरअसल अपना दल (एस) के टिकट पर शोरथगढ़ विधानसभा सभा सीट से विधायक अमर सिंह भले ही विधायक हैं पर उनके जो पत्र वायरल हुआ है उसे देखकर तो यही लगता है कि वो खुद को जिले का सरकार मानते हैं। तभी तो मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश के बाद भी ये विधायक जी अपनी आदत से बाज नही आ रहे हैं। जिले के एसपी के नाम से पत्र लिखकर ये निर्देश दे दिया कि किस थानाध्यक्ष की तैनाती किस थाने में की जाये। साथ भी ये भी बता दिया की किसकी तबादला कहां किया जाये। इस पत्र के सामने आने के बाद जिले की राजनीति तेज हो गई है। विपक्षी दल के नेता विधायक पर जमकर हमला कर रहे हैं।

 

 

up mla amar singh latter viral
ashish shukla IMAGE CREDIT: PATRIKA

पहले भी इस बात को लेकर चर्चा में रहे अमर सिंह 

ये पहला वाकया नहीं है जब विधायक ने ऐसा निर्देश दिया हो। इसके पहले भी कोटेदारों को हटाने और कोटा दिलाने में भी इनका नाम आया था। ये विधायक जी पूर्ति निरीक्षक की तैनाती को लेकर भी खूब चर्चा में रह चुके हैं।

 

 

आखिर कौन हैं विधायक अमर सिंह

पंचायत चुनाव से राजनीतिक सफर शुरू करने वाले अमर सिंह की पहचान जिले में जिले में मौकपाई नेता के रूप है। दो बार ग्राम प्रधान का चुनाव जीतने वाले अमर सिंह 2014 लोकसभा चुनाव में बसपा उम्मीदवार के साथ थे। पर केन्द्र में सरकार आने के बाद और यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक पहले इन्होने भाजपा का दामन थाम लिया। हालांकि तमाम कोशिश के बाद भी अमर सिंह को भाजपा ने शोरथगढ़ सीट से इन्हे उम्मीदवार नहीं बनाने का फैसला कर लिया। पर किस्मत ने साथ दिया और ये सीट भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) के खाते में चली गई। फिर क्या था नेता जी ने भाजपा से नाता तोड़कर अपना दल का दामन थाम लिया। पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया और इन्हे चुनाव में सफलता हाथ लग गई। अब ये विधायक जी कानून को ठेंगा दिखाते हुए ऐसे आदेश-निर्देश दे रहे हैं जिससे अपना दल के साथ ही भाजपा की भी फजीहत हो रही है।  

 

वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned