14 दिन कोरटाइन सेंटर में रहने वाले श्रमिकों को प्रशासन ने भिजवाया घर

लॉक डाउन में में बाहर से आने वाले श्रमिको को रखा गया था सेंटर में

By: Manoj Pandey

Published: 18 Apr 2020, 10:16 PM IST

सीधी। पूरे देश में लॉक डाउन के दौरान दूसरे राज्य एवं जिलों से जो मजदूर एवं कारोबारी जो सीधी जिले की सीमा में प्रवेश किए थे, उन प्रवासियों के लिए अस्थाई रूप से कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रवींद्र कुमार चौधरी के निर्देशानुसार सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा विभागीय छात्रावासों में क्वारेंटाईन सेंटर एवं आवासीय व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है।
सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग डॉ.केके पांडेय ने जानकारी देकर बताया कि जिन लोगों को रहते 15 दिन व्यतीत हो गया है उन्हें मेडिकल चेकअप के बाद उनके गृह ग्राम सकुशल भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिन क्वारेंटाईन सेंटरों में रहने वाले लोगों का 15 दिन व्यतीत हो जाएगा उनका मेडिकल चेकअप कराने के पश्चात उन्हें भी सकुशल बस द्वारा उनके गृह ग्राम भेजा जाएगा। कलेक्टर के निर्देशानुसार सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग सीधी द्वारा निम्न छात्रावासों में क्वारेंटाईन किए श्रमिकों को उनके को घर बस द्वारा भेजा गया है।
*अनुसूचित जाति महाविद्यालय छात्रावास सीधी में कुल 68 लोग ठहरे थे, जिसमें से सीधी जिले के सीधी विकासखंड के 8, सिहावल विकासखंड के 57 तथा सिंगरौली जिले के चितरंगी विकासखंड के 3 लोगों को भेजा गया।
*आदिवासी सीनियर बालक छात्रावास एवं आदिवासी महाविद्यालय छात्रावास मझौली में कुल 74 लोग ठहरे थे, जिसमें सिंगरौली जिले के देवसर विकासखंड के 13 एवं चितरंगी विकासखंड के 1 तथा सीधी जिले के सीधी विकासखंड के 5, सिहावल विकासखंड के 26, रामपुर नैकिन विकासखंड के 3 एवं मझौली विकासखंड के 26 लोगों को भेजा गया।

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned