सराहनीय कदम: दिव्यांग सुखराम के घर कराया हैंडपंप का उत्खनन, अब परिवार की बुझेगी प्यास

पत्रिका ने उठाया था मुद्दा: नि:शक्त दिव्यांग और उसकी मां का खुशी से छलक पड़े आंसू

By: Anil singh kushwah

Published: 06 Jan 2019, 05:43 PM IST

सीधी/मझौली। पांड़ निवासी 70 वर्षीय गनेसिया साहू व 32 वर्षीय नि:शक्त बेटे सुखराम को राहत मिलने की उम्मीद है। पत्रिका ने खबर प्रकाशित कर उनकी समस्या पर प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया था। जिस पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर ने विभागीय अमले को मौके पर भेजकर शनिवार सुबह बोरिंग करा दी। इससे उन्हें पेयजल की समस्या से राहत की उम्मीद है।

नि:शक्त को प्रशासन से मिली राहत
मझौली एसडीएम अखिलेश सिंह भी पटवारी रमेश सेन के साथ मौके पर पहुंचे और नि:शक्त दिव्यांग व उसकी मां से मिलकर शासन द्वारा अन्य मिलने वाली योजनाओं की जानकारी ली। जनपद सदस्य अजय सिंह से पेंशन व बीपीएल में नाम जोड़े जाने को लेकर चर्चा की।

एसडीएम से मिल भावुक हुए मां-बेटे
कहते हैं यदि इंसान शाम को कुछ सपने देखे और सुबह वह पूरा हो जाए तो उसे अपनी आंखों पर भरोसा नहीं होता, वही कुछ सुखराम और उसकी मां के लिए हुआ मां बेटे द्वारा एक दिन पहले अपनी ब्यथा पत्रिका प्रतिनिधि को सुनाकर अपनी बात जिला कलेक्टर तक पहुंचाने का आग्रह किया, लेकिन अगली सुबह बोर के लिए मशीन देख उसे अपनी आंखों पर कुछ पल यकीन ही नहीं हुआ।

खुशी से छलक पड़े आंसू
वहीं जब एसडीएम अखिलेश सिंह मां बेटे से अन्य योजनाओं के बारे में चर्चा करने लगे तो अनायस ही भावावेश में खुशी के आंसू छलक आए व कंपकपाते हांथो को जोड़कर जिला कलेक्टर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों का आभार जताया।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned