वन अमले को दिया गया शस्त्र एवं वर्दी अनुशासन का प्रशिक्षण

छात्र-छात्राओं ने किया टाइगर रिजर्व का भ्रमण व जानी वन्य प्राणियों की गतिविधियां

By: Manoj Pandey

Updated: 27 Nov 2019, 08:54 PM IST

सीधी/मझौली। संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र दुबरी में वन अमले को एक दिवसीय शस्त्र एवं वर्दी अनुशासन का प्रशिक्षण भारतीय सेना के सेवानिवृत्त सुबेदार सियाशरण मिश्रा द्वारा दिया गया।
बताते चलें कि जंगलो में बढ़ते शिकार की घटनाओं एवं शिकारियों द्वारा प्रयोग किए जा रहे नित नए हथियारों के मद्देनजर यह प्रशिक्षण सभी वन रक्षकों व अधिकारियों को दिए गए, जिन्हें वन संरक्षण के लिए विभाग द्वारा नियुक्त किया गया है।
बढ़ रही टाइगर रिजर्व की लोकप्रियता-
संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र पिछले कुछ वर्षो से अपनी लोकप्रियता से एक तरफ जहां विदेशी सैलानियों को आकर्षित कर अपना ग्राफ तेजी से बढ़ा रहा है, वहीं नजदीकी क्षेत्रो के पर्यटकों के लिए यह सरल व सहज सुविधा उपलब्ध कराने में तेजी से काम कर रहा है, जिस कारण यहां पर आए दिन किसी न किसी शहर के विद्यालय प्रबंधन छात्र-छात्राओं को लेकर उन्हें प्रकृति का सही मायने में साक्षात्कार कराते हैं, इसी की कड़ी में रविवार को महाराजा स्कूल रीवा के छात्र-छात्राएं दुबरी रिजर्व क्षेत्र का भ्रमण कर वहां के प्रशिक्षित डॉग अपोलो द्वारा शिकारियों को पकडऩे की उसकी दक्षता का प्रदर्शन देखा। बच्चों द्वारा उत्सुकता पूर्वक हांथी व वन्य जीवों, जंगल एवं टाइगर रिजर्व के बारे में सवाल कर उनके बारे में चर्चा की, जिसका हर जवाब वन विभाग के जानकार कर्मचारियों व अधिकारियों द्वारा विस्तारपूर्वक दिया गया, वहीं पार्क के बारे में जानकारी एवं बेकिंग ट्रेल पर वन एवं वन्य जीव दर्शन में गाइड सुभाष सिंह एवं परिक्षेत्र अधिकारी वीरभद्र सिंह द्वारा रोचक जानकारी प्रदान की गई।

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned