स्वच्छता में स्मार्ट सिटी सतना से आगे सीधी, मझौली ने भी सुधारी रैंक

स्वच्छता में स्मार्ट सिटी सतना से आगे सीधी, मझौली ने भी सुधारी रैंक

Sonelal Kushwaha | Publish: Mar, 07 2019 04:29:46 AM (IST) Sidhi, Sidhi, Madhya Pradesh, India

स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 की जारी रिपोर्ट में सीधी को मिली 147वीं रैंक, प्रदेश में 26वां स्थान

सीधी. स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के तहत सीधी की रैंकिंग पिछली बार की अपेक्षा काफी सुधरी है। एक लाख से कम आबादी वाले शहरों में इसे वेस्ट जोन में १४७वीं रैंक मिली है। प्रदेश में बात करें तो हमारा सीधी 26 स्वच्छ शहरों में शामिल हो गया। वहीं सिंगरौली और रीवा के बाद इसे छठा स्थान मिला है। नगर पालिका प्रशासन ने थ्री स्टार के लिए दावेदारी की थी, लेकिन टू-स्टार से ही संतुष्ट होना पड़ा। सीएमओ अमर बहादुर सिंह ने कहा कि आगे और बेहतर करने का प्रयास किया जाएगा। आमजन को भी जागरूक होने की जरूरत है। तभी हम स्वच्छता में नबर वन बन सकते हैं।

मझौली में उत्तरोत्तर सुधार
स्वच्छता सर्वेक्षण में इस बार जिले के नगरीय निकायों की स्थिति अपेक्षाकृत काफी ठीक है। हालांकि, इसमें अभी और सुधार करने की जरूरत है। मझौली नगर परिषद की पिछली बार ३४२वें पायदान पर थी, लेकिन इस बार उत्तरोत्तर सुधार करते हुए 183वीं रैंक हासिल की। जबकि, चुरहट नगर परिषद 178वीं रैंक से 331वें पायदान पर पहुंच गई।

सिटीजन फीडबैक में पिछड़े
सर्वेक्षण के रिपोर्र्ट के अनुसार, सीधी को पांच हजार में 2874.92अंक यानी 57 फीसदी अंक मिले हैं। सर्विस लेवल प्रोग्रेस व प्रमाणीकरण कमजोर है, लेकिन अन्य शहरों की अपेक्षाकृत ठीक है। इसके अलावा सिटीजन फीडबैक में हम काफी पीछे रह गए हैं। आमजन जागरूकता तत्परता दिखाते तो निश्चित ही हम प्रदेश के टॉपटेन शहरों में होते। प्रत्यक्ष अवलोकन में स्थिति काफी ठीक रही। इसके अलवा ओडीएफ प्लस-प्लस प्रमाण-पत्र भी रैंक सुधारने के काफी काम आया।

मझौली को एक स्टार, रैंकिंग में सुधार
नगर पंचायत मझौली ने स्वच्छता सर्वेक्षण में तीन स्टार के लिए दोवदारी की थी, लेकिन एक स्टार से ही संतुष्ट करना पड़ा। 2011 की जनगणना के अनुसार, कस्बे की आबादी 11 हजार 892 है। इनमें से करीब 255 लोगों ने फीडबैक दिया है। प्रत्यक्ष अवलोकन व सिटीजन फीडबैक में स्थिति ठीक है। सेवास्तर प्रगति व दस्तावेज प्रमाणीकरण में कमी रह गई। अन्यथा इसकी रैंक और बढ़ सकती थी। गत सर्वेक्षण में सेवा स्तर प्रगति में 1400 अंक में उसे 251.06 अंक और प्रत्यक्ष अवलोकन में 1200 में से 828.57 अंक मिले थे।

चुरहट की हालत दयनीय
स्वच्छता रैकिंग में चुरहट की हालत अत्यंत दयनीय है। गत सर्वे में चुरहट 178वें पायदान पर था, इस बार वह 331वें स्थान पर पहुंच गया। जबकि चुरहट को भी एक ही स्टार मिला है। बताते चलें कि गत सर्वे में सेवा स्तर पर प्रगति में चुरहट को १४०० में से २५१.०६ अंक, प्रत्यक्ष अवलोकन में 1200 में से 828.57 अंक व वरिष्ठ नागरिकों के फीडबैक में 1400 में से 940.84अंक मिले थे। कुल चार हजार अंक में से चुरहट को २०२०.४५ अंक हासिल हुआ है।

अगली बार बेहतर करेंगे
स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 की रैकिंग में सीधी नगर पालिका को संभाग में छठा और वेस्ट जोन में 147 वीं रैंक मिली है। प्रदेश के एक लाख से कम आबादी वाले शहरों की बात करें तो यह 26वीं रैंक होगी। अगली बार और बेहतर करने का प्रयास किया जाएगा।
अमरबहादुर ङ्क्षसह, सीएमओ नगर पालिका सीधी

कमियां सुधारेंगे
बेहतर रैकिंग लाने के प्रयास किए। कुछ कमियां रह गई होंगी, इन्हें दूर कर अगली बार बेहतर रैकिंग का प्रयास करेंगे।
लालजी सिंह, प्रभारी सीएमओ, नगर परिषद मझौली

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned