scriptCovid-19 cold and cough, do not consider it a seasonal disease, get tr | सर्दी, जुकाम और खांसी है तो इसे मौसमी बीमारी न मानें, समय पर कराएं इलाज | Patrika News

सर्दी, जुकाम और खांसी है तो इसे मौसमी बीमारी न मानें, समय पर कराएं इलाज

जांच करवाने से परिवार के अन्य सदस्य कोरोना संक्रमित होने से बचेंगे

सीधी

Published: January 26, 2022 08:59:28 pm

सीधी. यदि आपको सर्दी, जुकाम, खांसी है तो इसे हल्के में न लें, क्योंकि यह कोरोना संक्रमण के लक्षण भी हो सकते हैं। ऐसे में तत्काल अस्पताल जाकर फीवर क्लीनिक में जांच कराएं और डॉक्टर से उचित सलाह लें, क्योंकि तीसरी लहर में अभी तक जितने मरीज कोरोना पॉजिटिव मिले हैं उनमें से अधिकतर को मामूली सर्दी, जुकाम, खांसी के लक्षण ही थे। इन सभी ने जब कोरोना सेंपल दिया तो अधिकतर पॉजिटिव निकलें। जबकि कुछ में तो लक्षण स्पष्ट नहीं थे। जिले में 20 दिनों का संक्रमण काल देखें तो ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। 20 दिनों में अब तक 346 मरीज कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं, इनमें से एक की भी हालत गंभीर नहीं पाई गई है। सिर्फ अपवाद स्वरूप एक मरीज को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, वह भी अस्पताल से भाग गया।

covid_19.png

वहीं कुछ और मरीजों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिनके घर में आइसोलेट होने पर्याप्त जगह नहीं थी। कोरोना मरीजों का पिछले तीन साल से इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि सीधी जिले में अब तक मिले कोरोना पॉजिटिव मरीजों में किसी की भी हालत गंभीर सामने नहीं आई है।एक भी मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत भी नहीं पड़ी है। सुखद बात यह है कि ज्यादातर मरीज 7 दिन के भीतर स्वस्थ हो चुके हैं। इन सबके बावजूद लोगों को बदलते मौसम में सर्दी, जुकाम और खांसी को हल्के में नहीं लेना है, क्योंकि यदि वे इसे मौसमी बीमारी मानकर डॉक्टर को दिखाए बिना ही मेडिकल से दवा लेकर ठीक होने का प्रयास करेंगे तो यह गलती भारी पड़ सकती है।

इसके भी कई उदाहरण सामने आ चुके हैं। जिनमें कई परिवारों के पूरे सदस्य संक्रमित हो गए। जिनमें माता-पिता से लेकर छोटे बच्चे शामिल हैं। चिकित्सक के मुताबिक मौसम में जरा सा बदलाव या ज्यादा ठंडी चीजें खा लेने की वजह से या फिर अन्य कारणों से बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक में खांसी की समस्या हो सकती है। खांसी की समस्या होने पर गले में खराश और दर्द भी होने लगता है। खांसने पर शरीर के वायु मार्ग से कई बार बलगम भी बाहर आता है। खांसी सूखी भी हो सकती है। आयुर्वेद के अनुसार जब शरीर में वात, पित्त और कफ इन तीनों दोषों का असंतुलन होता है तो व्यक्ति को खांसी होती है।

यह बोले एक्सपर्ट
जिला चिकित्सालय सीधी सिविल सर्जन डॉ. एसबी खरे ने बताया कि बदलते मौसम में सर्दी, जुकाम, खांसी होना सामान्य बात है, लेकिन वर्तमान में कोरोना संक्रमण काल चल रहा है। हर दिन पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। ऐसे में इसे हल्के में न लें। अस्पताल में आकर फीवर क्लीनिक पर जांच कराएं। पिछले काफी समय से अस्पताल की कुल ओपीडी में 40 प्रतिशत मरीज सर्दी, जुकाम, खांसी और बुखार के आ रहे हैं। लक्षण के आधार पर हम ज्यादातर को फीवर क्लीनिक में कोरोना जांच के लिए भेज रहे हैं और उनमें से पॉजिटिव भी निकल रहे हैं।

लंबे समय तक खांसी चिताजनक
सामान्य सर्दी-खांसी या फ्लू की वजह से होने वाली खांसी की समस्या दवा लेने या कुछ घरेलू उपाय की मदद से कुछ दिनों में ठीक हो जाती है, लेकिन यदि खांसी की समस्या लंबे समय तक लगातार बनी रहे तो यह भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने की निशानी हो सकती है। यदि हफ्ते भर से ज्यादा खांसी की समस्या रहे या फिर एक दिन में तीन से चार बार ऐसा हो तो इसे नजरअंदाज न करें और कोरोना टेस्ट करवाएं। यदि सामान्य खांसी की समस्या होगी तो मरीज को सांस फूलने या सांस लेने में तकलीफ की समस्या सामान्य तौर पर नहीं होती है। लेकिन यदि खांसी और बुखार के साथ सांस लेने में भी तकलीफ महसूस हो रही है। व्यक्ति हांफ रहा है तो यह भी कोरोना संक्रमण का एक मजबूत संकेत हो सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.