सोन नदी के घाटों में दूसरे दिन भी उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, शुभ मुहुर्त पर लगाई आस्था की डुबकी

सोन नदी के साथ ही जिले की अन्य पवित्र नदियों के घाटों पर लगा रहा मेला, मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

सीधी। मकर संक्रांति पर शुभ मुहुर्त पर स्नान करने दूसरे दिन बुधवार को भी जिले की पवित्र नदी सोन सहित गोपद व बनास के विभिन्न घाटों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। लोगों ने शुभ मुहुर्त पर पवित्र नदियों में आस्था की डुबकी लगाकर मकर स्नान करते हुए लाई, तिल, गुड़ आदि का दान किया।
ज्योतिष गणना के अनुसार मकर संक्रांति पर्व पर स्नान का शुभ मुहुर्त बुधवार को होने के कारण काफी संख्या में श्रद्धालुओं ने पवित्र नदियों में आस्था की डुबकी लगाते हुए गुड़ एवं तिल का दान किया। मकर संक्रांति पर मुख्य मेला एवं भीड़ सोन नदी के भंवर सेन घाट, कोल्दहा, गऊघाट,जोगदहा, खड़बड़ा, कुर्रवाह, रामपुर सहित अन्य घाटों में लगी रही। वहीं गोपद नदी एवं बनास नदी के तटों में भी बुधवार को दूसरे दिन बड़ा मेला लगने के कारण यहां श्रद्धालुओं का हुजूम सुबह से लेकर शाम तक उमड़ता रहा। मेले में पहुंचे लोगो ने स्नान-दान करने के बाद खरीदी का लुत्फ भी उठाया। उल्लेखनीय है कि ज्योतिष गणना के अनुसार चार वर्षो से मकर संक्रांति 15 जनवरी को ही पड़ रहा है। इसका सिलसिला अभी कई अन्य वर्षो तक पडऩे की संभावना भी बताई जा रही है। हलाकि पुरानी मान्यताओं के अनुसार लोग 14 जनवरी को ही मकर संक्रांति मनाने के लिए उत्साह दिखाते हैं। इसी के चलते सबसे बड़ा मेला मकर संक्रांति पर 14 जनवरी को ही जिले की सभी पवित्र नदियों में सभी घाटों में लगता है। इस वर्ष मकर संक्रांति पर आज 15 जनवरी को भी पवित्र नदियों के तटों पर भव्य मेला का आयोजन किया गया था। मेला के मद्देनजर पुलिस प्रशासन द्वारा भी सुरक्षा को लेकर व्यापक इंतजाम किए गए थे।

Manoj Pandey Bureau Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned