संविदाकारों की लापरवाही से दर्जनों निर्माण कार्यों का नहीं शुरू हो पाया निर्माण कार्य

सड़क, नाली, पुल जैसे निर्माण कार्यों की शुरूआत नहीं होने से परेशान हो रहे लोग, सारी प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद लगातार रिमांइडर देने पर भी संविदाकार कार्य शुरू करने में नहीं दिखा रहे रूचि, दुबारा टेंडर प्रक्रिया की डर से टेंडर निरस्तगी की कार्रवाई नहीं कर पा रहे जिम्मेदार, मामला नगर पालिका सीधी अंतर्गत स्वीकृत विभिन्न निर्माण कार्यों का

By: Manoj Pandey

Updated: 27 Nov 2019, 08:20 PM IST

सीधी। नगर पालिका परिषद सीधी अंतर्गत स्वीकृत निर्माण कार्यों को शुरू करने को लेकर संबंधित संविदाकार बेपरवाह बने हुए हैं, जिससे समय पर न तो निर्माण कार्य शुरू हो रहे हैं, और न ही निर्धारित समयावधि में निर्माण कार्यों के पूर्ण होने की स्थिति नजर आ रही है। बुनियादी समस्या जैसे से सड़क नाली के निर्माण कार्य स्वीकृत होने के साथ ही टेंडर, वर्क आर्डर जैसी समस्त औपचारिकताएं पूरी करने के बाद भी संविदाकार द्वारा निर्माण कार्य शुरू न करने पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा संबंधित संविदाकारों को नोटिस भी जारी की जा चुकी है, बावजूद इसके संविदाकारों द्वारा निर्माण कार्य का श्रीगणेश नहीं किया जा रहा है। यह स्थिति किसी एक दो निर्माण कार्य नहीं बल्कि दर्जनों निर्माण कार्यों की है।
बताते चलेें कि शहर के विकास को दृष्टिगत रखने के साथ ही बुनियादी सुविधाओं के मद्देनजर शहर के विभिन्न वार्डों में निर्माण कार्य स्वीकृत किए जाते हैं। स्वीकृत निर्माण कार्यों का एएस, टीएस होने के बाद टेंडर जारी किया जाता है, और टेंडर के बाद निर्धारित मापदंडों को पूरा करने वाले तथा सबसे कम दर पर निविदा डालने वाले संविदाकार का कार्य स्वीकृत कर निर्धारित औपचारिकताएं पूरी करते हुए वर्क आर्डर जारी कर दिया जाता है। लेकिन निर्माण कार्य के लिए टेंडर के तहत कार्य लेने वाले कई ऐसे संविदाकार व फर्म हैं जो कार्य प्रारंभ करने में काफी देरी कर देते हैं, जिससे न तो समय पर कार्य शुरू हो पाता और न ही निर्धारित अवधि में कार्य पूर्ण हो पाता है। इस स्थिति में सड़क नाली जैसे कार्य समय पर न होनेे से लोगों को परेशानी होती है।
सर्वाधिक कार्य सड़क व नाली-
नगर पालिका अंतर्गत सर्वाधिक कार्य सड़व नाली निर्माण के ही स्वीकृत किए जाते हैं, इन्हीं कार्यों के सर्वाधिक प्रस्ताव भी पीआईसी की बैठक में आते हैं। शहर के जिन मुहल्लों में इस तरह की समस्या है वहां के लोगों को काफी परेशानी हो रही है, किसी तरह कार्य स्वीकृत होने के बाद टेंडर आदि की प्रक्रिया पूर्ण होने में ही समय लग जाता है, लेकिन जब सारी प्रक्रिया पूर्ण हो जाती है और कार्यादेश भी जारी हो जाने के महीनों बाद भी संविदाकार की लापरवाही से कार्य शुरू नहीं होता तो लोगों का आक्रोश भी पनपने लगता है।
कार्यादेश जारी होने के महीनों बाद भी अप्रारंभ कार्य-
कार्य का नाम - संविदाकार
1-वार्ड-2 में भारत सिंह के घर के पास नाली नाली निर्माण- शिव कां. कंपनी
2-वार्ड-2 में इंद्रभान सिंह के घर के सामने रिटेनिंग वाल, सीसी सड़क- शिव कां.कं.
3-वार्ड-4 में संस्कार स्कूल के पास ह्यूम पाइप कलवर्ट निर्माण- दिलीप ङ्क्षसह
4-वार्ड-7 में विश्वनाथ कोल के घर के पास स्लैव निर्माण- दिलीप सिंह
5-वार्ड-7 में डेम्हा रोड से जगदीश तिवारी के घर तक सीसी सड़क- सुमित पांडेय
6-वार्ड-8 में इंद्रबहादुर सिंह के घर के पास ह्यूम पाइप कलवर्ट निर्माण- दिलीप सिंह
7-वार्ड-9 में प्रमोद शुक्ला के घर के पास नाली निर्माण- धीरेंद्र ङ्क्षसह
8-वार्ड-12 में प्रो.तिवारी के घर से मेन एक्जिस्टिंग ड्रेेनेज तक नाली कार्य- सुमित पांडेय
9-वार्ड-12 में कांजी हाउस से सूखा नाला तक नाली निर्माण- प्रमेश द्विवेदी
10-वार्ड-20 में राघवभान के घर से अजय सिंह के घर तक नाली- शिव कां.कंपनी
------
कार्य की देरी के डर से निरस्त नहीं किए जा रहे कार्य-
किसी कार्य का टेंडर आदि करने सहित अन्य औपचारिकताएं पूरी करने में करीब छ: माह से अधिक का समय बीत जाता है, ऐसे में एक बार निर्माण कार्य स्वीकृत होने के बाद टेंडर प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद जब कार्या आदेश जारी कर दिया जाता है तो नपा के जिम्मेदार अधिकारी इस सोच के साथ संविदाकार द्वारा कार्य करने में देरी को लेकर कार्य निरस्त नहीं करते कि यदि एक बार कार्य निरस्त कर दिया गया तो संबंधित कार्य के नए सिरे से टेंडर आदि की प्रक्रिया में करीब एक वर्ष का समय बीत जाएगा, जिससे कार्य में और अधिक देरी होगी।
जारी की गई है नोटिस-
कार्यादेश जारी होने के बाद भी जिन संविदाकारों द्वारा कार्य शुरू नहीं किया जा रहा है उन्हें नोटिस जारी कर अंतिम चेतावनी दी गई है, यदि वह समाधान पूर्वक जवाब न देते हुए शीघ्र कार्य शुरू नहीं किया तो उनके कार्य निरस्त करते हुए वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
अमर बहादुर सिंह
मुख्य नगर पालिका अधिकारी, सीधी

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned