scriptElephants are creating havoc on the border of MP-Cg, alert issued | मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ की सीमा पर हाथी मचा रहे हैं उत्पात, अलर्ट जारी | Patrika News

मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ की सीमा पर हाथी मचा रहे हैं उत्पात, अलर्ट जारी

संजय टाइगर रिजर्व से शहडोल के जंगल इलाके में पहुंचे, दहशत में ग्रामीण

सीधी

Published: April 06, 2022 03:17:44 pm

सीधी. बीते महीनों छत्तीसगढ़ की सीमा पार कर संजय टाइगर रिजर्व एरिया अंतर्गत कुसमी अंचल के जंगलों में विचरण करने वाले हाथियों का झुंड एक बार फिर से गत रविवार की रात को मबई नदी की सीमा को हरचोका घाट से पार कर छत्तीसगढ़ के जंगलों में पहुंच गया।

fear_of_elephants.png

बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के जनकपुर परिक्षेत्र के जंगलों में विचरण करते हुए जंगली हाथियों का यह झुंड फिर मध्यप्रदेश अंतर्गत शहडोल जिले के वन परकिक्षेत्र अमझोर पहुंच गया। जहां चितरांव गांव के पास महुआ फूल चुनने गए एक दंपत्ति को हाथियों के झुंड द्वारा कुचल दिया गया। जिससे पति-पत्नी दोनों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई है। इस हादसे के बाद एक बार फिर सीमा क्षेत्र के ग्रामीण दहशत में आ गए हैं, उन्हें डर है कहीं हाथियों का झुंड फिर संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र की ओर न रुख कर ले।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार की दरमियानी रात तकरीबन 12 बजे सात हाथियों का झुंड चितरांव गांव के पास ग्रामीणों के द्वारा देखा गया था। मंगलवार को सुबह तकरीबन 5 बजे मोतीलाल बसोर अपनी पत्नी मुलिया बाई के साथ महुआ फूल चुनने गया था। इसी दौरान हाथियों के झुंड से सामना हो गया। हाथियों के झुंड द्वारा दोनों पति-पत्नी को पैरों तले रौंद दिया। जिससे दोनों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। आनन-फानन में घटना की सूचना ग्रामीणों के द्वारा वन विभाग एवं पुलिस विभाग को दी गई। सूचना उपरांत वन परिक्षेत्र अधिकारी अमझोर, जयसिंह नगर एवं सीधी सहित जय सिंह नगर थाना प्रभारी दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच कर मौका मुआयना करते हुए पंचनामा आदि की कार्रवाई उपरांत पीएम कराया।

कराई जा रही मुनादी
ह्वथियों द्वारा दो लोगों को मौत के घाट उतार देने के बाद आस-पास के गांव के ग्रामीणों में काफी दहशत देखी जा रही है। लिहाजा वन एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीम द्वारा गांव में मुनादी कराई जा रही है। जिससे ग्रामीण जंगल में प्रवेश ना करें। इतना ही नहीं महुआ फूल का सीजन होने के कारण ग्रामीणों को जंगल में प्रवेश नहीं करने की समझाइश भी आला अधिकारियों द्वारा दी जा रही है। हाथियों के झुंड में दो शावकों सहित सात की संख्या बताई जा रही है। लिहाजा हाथियों का झुंड अधिक संवेदनशील दिख रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Bypoll results 2022 LIVE: त्रिपुरा में बीजेपी ने 4 में से 3 सीटों पर दर्ज की जीत, यूपी के रामपुर सीट से घनश्याम लोधी जीतेMaharashtra Political Crisis: गुवाहाटी से ही रणनीति बनाने में जुटे बागी विधायक, दिल्ली पहुंच सकते हैं बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीसMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी संग्राम में अब उद्धव की पत्नी रश्मि ठाकरे की हुई एंट्री, बागी विधायकों की पत्नियों से फोन पर की बातसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहबिहार ड्रग इंस्पेक्टर के घर पर छापेमारी, 4 करोड़ कैश और 38 लाख के गहने बरामदAzamgarh Rampur By Election Result : रामपुर और आजमगढ़ में भाजपा और सपा के बीच कड़ा मुकाबला35 साल बाद कोई तेज गेंदबाज करेगा भारतीय टीम का नेतृत्व, एक साल के अंदर बदले 7 कप्तानमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.