पिकनिक मनाने गए सात दोस्तों को भारी पड़ी एक गलती, 20 घंटे बाद मिला शुभम का शव

मप्र के सीधी जिला स्थित सेहरा बांध में टूटी नाव लेकर निकले थे दोस्त, डूबने से एक की मौत

By: Sonelal kushwaha

Published: 24 May 2018, 02:16 AM IST

सीधी. पिकनिक मनाने गए युवक को क्या अंदेशा कि वह लौटकर नहीं आएगा। युवक की बांध में डूबने की सूचना पाकर घर में मातम पसर गया। करीब 20 घंटे बाद गोताखोरों की मदद से शव बाहर निकाला पाया। ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर चक्काजाम कर दिया। पुलिस को उन्हें शांत कराने में खासी मशक्कत करनी पड़ी। घटना मझौली विकासखंड अंतर्गत सेहरा बांध की है। पांड़ खमचौरा गांव निवासी शुभम तिवारी पिता रमाशंकर (21) छह अन्य साथियों संग मंगलवार दोपहर सेहरा बांध पिकनिक मनाने गया था। बांध किनारे एक नाव पड़ी थी। जिस पर सवार होकर वे बांध की सैर पर निकल गए। लेकिन छेद होने के कारण नाव गहरे पानी में जाकर डूबने लगी। जिससेे सभी लोग नाव से कूछ गए। साथी तो तैरकर किनारे आ गए, लेकिन शुभम को तैरना नहीं आता था। इस कारण वह नाव के साथ बांध में डूब गया। साथियों ने परिजनों को सूचना दी। परिजन पुलिस व गोताखोरों की मदद से तलाश शुरू की, 20 घंटे बाद शव हाथ लगा।

विरोध के बाद बुलाए गए गोताखोर
लगातार तलाश के बाद भी शव नहीं मिला तो ग्रामीणों ने गोताखोर बुलाने की मांग करने लगे। लेकिन पुलिस इसके लिए तैयार नहीं हुई। जिससे शव तलाशने में ज्यादा समय लग गया। ग्रामीण जब उग्र होने लगे तो पुलिस ने गोताखोर बुलाए।

आरक्षक ने मांग लिए 10 हजार
स्थानीय लोगों की मानें तो ग्रामीण गोताखोर बुलाने की मांग कर रहे थे तभी आरक्षक ने कहा, 10 हजार देने पड़ेंगे। उसकी बात सुन ग्रामीण भड़क गए और चौराहे पर जाम लगा दिया। दोपहर 2.45 बजे शव मिलने की सूचना पर समाप्त किया गया।

जोगीपहाड़ी चौराहा पर तीन घंटे जाम
पुलिस के रवैये से गुस्साए ग्रामीणों ने जोगीपहाड़ी चौराहा में चक्काजाम कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव ने डीएसपी अजाक अमर सिंह व कोतवाली टीआई रामबाबू चौधरी सहित पुलिस लाइन से बड़ी संख्या में बल भेजा। इसके बावजूद करीब तीन घंटे आंदोलन जारी रहा।

Show More
Sonelal kushwaha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned