सीधी जिले की सीमा में पहुंचा हांथियों का झुंड

झु़ंड में डेढ़ दर्जन हांथी शामिल, अभी सामान्य वन मंडल व्यौहारी क्षेत्र में कर रहा विचरण, फसलों को पहुंचाया जा रहा नुकशान, संजय टाईगर रिजर्व का अमला कर रहा रूट बदलने का प्रयाश

सीधी। लगातार पिछले दो वर्षों से कुसमी व मझौली में उत्पात मचा चुके हांथियों के झुंड की तरह इस वर्ष फिर एक हांथियों का झुंड सीधी जिले की ओर रूख कर रहा है। लेकिन इस वर्ष इस झुंड हांथियों की संख्या गत वर्षों की अपेक्षा काफी ज्यादा है। विभागीय सूत्रों के अनुसार इस वर्ष झुंड में करीब डेढ़ दर्जन हांथी शामिल हैं। अभी फिलहाल हांथियों का यह झुंड सामान्य वन मंडल शहडोल के व्योहारी वन परिक्षेत्र में सीधी जिले के सीमावर्ती गांवों में विचरण कर रहा है। हांथियों के झुंड का आहट सीधी जिले के सीमातवर्ती गांवों के लोगों को सूचना मिलने से ग्रामीण दहशत में हैं, उन्हें इस बात का डर सता रहा है कि कहीं गत वर्षों की तरह इस वर्ष भी हांथियों के इस झुंड ने जिले की सीमा पार कर गांवों में प्रवेश किया तो काफी तबाही मचाएगा। बहरहाल हांथियों का यह झुंड अभी सामान्य वन मंडल के व्योहारी वन परिक्षेत्र में ही विचरण कर रहा है।
उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ राज्य से पिछले दो वर्षों से लगातार हांथियों का एक झुंड जिले के कुसमी अंचल की सीमा से जिले में प्रवेश करता है और दो से तीन महीने तक वन क्षेत्र एवं ग्रामीण अंचलों में प्रवेश कर वापस लौट जाता है। लेकिन दो वर्षों में हांथियों के इस झुंड ने गांवों में प्रवेश कर काफी उत्पात मचाया था। फसलों को नुकशान करने के साथ ही कई घरों को भी धराशाई कर दिया था, इसके साथ ही कई लोगों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया था। यहां तक की दो लोगों को मौत के घाट भी उतार दिया था। जिसके चलते हांथियों के झुंड की आहट के साथ ही ग्रामीण दहशत में आ जाते हैं।
एक पखवाड़े से जमाए है डेरा-
विभागीय सूत्रों की बात माने तो छत्तीसगढ़ राज्य की ओर से आए हांथियों के झुंड ने पिछले करीब एक पखवाड़े से व्योहारी वन परिक्षेत्र में अपना डेरा जमाए हुए है। ये हांथी बीच-बीच में गांवों में घुस जाते हैं और फसलों को भी लगातार नुकशान पहुंचा रहे हैं, जिसे क्षेत्र के किसान काफी परेशान हैं। बताया जाता है कि इस एक पखवाड़े के दौरान कई बार वह सीधी जिले की सीमा तक आ गए थे, लेकिन वहां से वापस लौट गए।
मझौली अंचल में कर सकते हैं प्रवेश-
छत्तीसगढ़ राज्य से प्रति वर्ष आने वाला हांथियों का झुंड विगत वर्षों में जिले के कुसमी अंचल में ही प्रवेश करता था, लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस वर्षं हांथियों के इस झुंड ने अपना रूट परिवर्तित कर लिया है, और वह व्योहारी सामान्य वन मंडल क्षेत्र में प्रवेश कर लिया है, और एक पखवाड़े से वहीं डेरा जमाए हुए है। बताया जाता है कि हांथियों का झुंड मझौली अंचल के जिले की सीमा से जुड़े गांवों की ओर रूख कर चुका है, ये अलग बात है कि संजय टाईगर रिजर्व अमले को इसकी जानकारी मिलने पर वन अमले ने उन्हें रोकते हुए उनका रूट परिवर्तित कर दिया, लेकिन जिस तरह से वह वन क्षेत्र व गांवों में विचरण कर रहे हैं उससे यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि वो मझौली अंचल में प्रवेश कर सकते हैं।
बदल दिया है हांथियों ने रूट-
हांथियों के झुंड में करीब डेढ़ दर्जन से भी अधिक हांथी शामिल है। ये हांथी पिछले करीब एक पखवाड़े से सामान्य वन मंडल क्षेत्र व्योहारी में भ्रमण कर रहा है, जानकारी मिली है कि हांथियों के झुंड ने किसानों की फसलों को भी काफी नुकशान पहुंचाया है, बीच में यह झुंड सीधी जिले की सीमा की ओर रूख कर रहा था, लेकिन उनका रूट बदल दिया गया, अभी फिलहाल इधर आने की उम्मीद नजर नहीं आ रही है।
बीरभद्र सिंह परिहार
रेंजर, संजय दुबरी अभ्यारण्य सीधी

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned