तीन दिन से सीधी नगर का भ्रमण कर रही दिल्ली की स्वच्छता सर्वेक्षण टीम

शहर के 54 स्थलों का भ्रमण कर लिया स्थिति का जायजा व फीडबैक, नपा के अफसरों से संपर्क नहीं

सीधी/ स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के तहत शहर का सर्वेक्षण करने दिल्ली से आई टीम पिछले तीन दिन से नगर का भ्रमण कर रही है, लेकिन नपा के अफसरों से उनका संपर्क नहीं हुआ है। हालांकि टीम के आने की भनक नपा के अधिकारियों को लग गई थी, लेकिन आने के बाद टीम के सदस्य कहां गए, किसका फीडबैक लिया इसका पता नहीं चल सका और न ही टीम के सदस्यों द्वारा नपा के अधिकारियों से किसी प्रकार का संपर्क ही किया गया।

दो सदस्य पहुंचे सीधी
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सर्वेक्षण के लिए दो सदस्य सीधी आए थे, जिसमें एक सदस्य सर्वे व फीडबैक का कार्य पूर्ण कर वापस जा चुके हैं, जबकि एक सदस्य अभी भी शहर में ही रहकर सर्वेक्षण का कार्य कर रहे हैं। बताते चलें कि स्वच्छता सर्वे के तहत तीन चरणों में सर्वेक्षण का कार्य पूरा किया जाना है, जिसमें सीधी शहर के पहले चरण का सर्वेक्षण दिसंबर में ही दिल्ली से आई टीम द्वारा पूरा किया जा चुका है, जबकि दूसरे चरण के सर्वेक्षण के तहत तीन दिन पूर्व दिल्ली से टीम आकर शहर का सर्वेक्षण कर रही है। वहीं तीसरे चरण का सर्वे अभी होना शेष है, पहले चरण में ओडीएफ से संबंधित सर्वेक्षण किया गया था, जबकि दूसरे चरण में स्वच्छता की स्थिति व पब्लिक फीडबैक लिए जाने का कार्य किया जा रहा है। वहीं तीसरे चरण में स्टार रैकिंग को लेकर सर्वेक्षण का कार्य किया जाएगा।

स्थलों का सर्वेक्षण कर लिया जा रहा फीडबैक
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के तहत नगर पालिका क्षेत्र का सर्वेक्षण करने आए दल द्वारा दिल्ली से दिए गए गूगल लोकेशन के आधार पर शहर के 54 स्थलों का भ्रमण कर वहां की स्वच्छता की स्थिति की फोटो व वीडियोग्राफी कर ऑनलाइन की जा रही है, इसके साथ ही उक्त स्थलों में रहने वाले लोगों का स्वच्छता को लेकर फीडबैक भी ऑनलाइन लिया जा रहा है, जिसमें लोगों से सवाल के आधार पर सुविधाओं पर नपा को कितने अंक दे रहे हैं, यह लिया जा रहा है। इस आधार पर भी शहर की स्वच्छता रैंकिंग को अंक मिलेंगे। बताया गया कि यदि पब्लिक फीडबैक अच्छा रहा तो शहर को अच्छी रैंकिंग मिलेगी, वरना रैंकिंग फिसल जाएगी।

हमें बताएं अपना सुझाव
शहर की सफाई व्यवस्था कैसे और अधिक बेहतर हो सकती है? क्या कमियां हैं और इन कमियों को कैसे दूर किया जा सकता है, जैसे सुझाव आप वाट्सअप नंबर-9179210402 पर दे सकते हैं। चुनिंदा सुझाव प्रकाशित किए जाएंगे।

शहरवासियों से पत्रिका की अपील
- घरों में एकत्रित कचरा कचरा संग्रहण वाहन या कचरा बॉक्स में ही डालें।
- यदि किसी कारणवश कचरा संग्रहण वाहन आपके घर तक नहीं पहुंच रहा है तो इसकी सूचना नगर पालिका को दें।
- कचरा निर्धारित स्थल पर ही फेंके।
- सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग न करें, और दूसरों को भी उपयोग न करने के लिए प्रेरित करें।
- घरों का सूखा और गीला कचरा अलग-अलग संग्रहित करें।

suresh mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned