शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर में दुकानदारों का अवैध कब्जा

शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर में दुकानदारों का अवैध कब्जा
sidhi

Om Prakash Pathak | Updated: 26 Jul 2019, 07:14:01 PM (IST) Sidhi, Sidhi, Madhya Pradesh, India

शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर में दुकानदारों का अवैध कब्जा, दुकानदारों को नपा की मूकसहमति, बरामदे से बाहर तक सजा ली गई दुकानें, नपा द्वारा नहीं की जा रही अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई, ग्राहकों के निकलने के लिए नहीं बचती जगह, शहर मे संचालित तीन कैंपस मे अतिक्रमणकारियों का कब्जा, होटल कारोबारी कर रहे अतिक्रमण

सीधी। नगर पालिका क्षेत्रांतर्गत शहर में नपा के करीब एक दर्जन से अधिक शॉपिंग कांपलेक्स हैं। जहां व्यवसाइयों को नगर पालिका अधिनियम के प्रावधानों के तहत विभिन्न शर्तों के अनुरूप दुकानों का आवंटन किया गया है। जिसमें एक प्रमुख प्रावधान दुकानों के स्वरूप में परिवर्तन न करना एवं बरामदों में कब्जा न करना भी है। लेकिन दुकान स्वामियों द्वारा इसका खुला उल्लंघन किया जा रहा है। शहर का शायद ही बरामदायुक्त कोई शॉपिंग कांपलेक्स जो जिसके बरामदों में दुकानदारों द्वारा अवैध रूप से कब्जा न किया गया हो। बरामदों में दुकान की सामग्री सजाने के कारण ग्राहकों को आवाजाही के लिए जगह नहीं बनती। खासकर बारिस के मौसम में ग्राहकों को पानी से बचने के लिए सिर छिपाने तक की जगह नहीं बचती है। ऐसी स्थिति में ग्राहकों को गर्मी के मौसम में धूप व बारिस के मौसम में पानी से बचने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। नपा क्षेत्र में कलेक्ट्रेट के पास, रैन बसेरा के पास व कुशाभाऊ ठाकरे कांपलेक्स मे इस तरह का अतिक्रमण स्पष्ट देखा जा सकता है।
बरामदे से बढ़ते हुए पहुंच गए फुटपाथ तक-
शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर में कब्जा करने वाले दुकानदारों के हौंसले इतने बढ़ चुके हैं कि अब वह बरामदे से बढ़ते हुए सड़क की फुटपाथ तक पहुंच गए हैं। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए दुकानों की सामग्री बाहर सजाने की प्रतिस्पर्धा में दुकानदार पहले तो बरामदे तक ही सामग्री सजाते थे, लेकिन अब उनके दुकानों की सामग्री बढ़ते-बढ़ते फुटपाथों तक पहुंच गई है। ऐसी स्थिति में यदि कोई ग्राहक बाजार में सामग्री खरीदने जाता है तो उसे अपने वाहन सड़क में खड़े करने पड़ते हैं, जिससे यातायात भी प्रभावित होता है।
कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा नपा अमला-
शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर इसके बाद फुटपाथ तक दुकानों की सामग्री फैलाकर अतिक्रमण करने वाले व्यापारियों के विरूद्व नपा के जिम्मेदार अधिकारी कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। जिससे व्यापारियों के हौंसले बढ़ते जा रहे हैं, और उनकी दुकानों की सामग्री भी फैलती जा रही है। जिसके चलते जहां एक ओर शहर की सुंदरता पर ग्रहण लग रहा है, वहीं दूसरी ओर शहर का यातायात भी प्रभावित हो रहा है।
वर्षों से अतिक्रमण, एकाध बार जुर्माने की कार्रवाई-
ऐसा नहीं है कि शॉपिंग कांपलेक्स के कॉरीडोर में अतिक्रमण की नई परंपरा शुरू हुई है, यह परंपरा वर्षों से चली आ रही है। लेकिन आज तक नपा का अतिक्रमण दस्ता ऐसे व्यापारियों के विरूद्ध कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पाया। पूर्व में एक-दो बार ऐसे व्यापारियों के विरूद्ध सौ रूपए का अर्थदंड लगाने की कार्रवाई की गई थी, साथ ही दुबारा सामग्री न सजाने की भी हिदायत दी गई थी, लेकिन इसका भी कोई खास असर व्यापारियों पर नहीं हुआ। लिहाजा उस कार्रवाई का भी कोई असर नहीं हुआ।
सर्वे कराया पर गायब हो गई सूची-
नगर पालिका अधिनियम का उल्लंघन करते हुए नपा की दुकानों के स्वरूप में परिवर्तन करने एवं तोड़ फोड़ करने सहित बरामदों में अवैध रूप से सामग्री सजाकर कब्जा करने वाले व्यापारियों के विरूद्ध नपा द्वारा पर्वू में सर्वे कराया गया था ताकि उनके विरूद्ध कार्रवाई की जा सके। लेकिन सर्वे के बाद यह सूची ही नपा से गायब हो गई, जिससे लापरवाह व्यापारियों के विरूद्ध कार्रवाई का मामला ठंडे बस्तें में चला गया।
इन कांपलेक्सों में ज्यादा समस्या-
वैसे तो नगर पालिका द्वारा शहर में बनाए गए लगभग सभी कांपलेक्सों के बरामदों में व्यापारियों द्वारा दुकानों की सामग्रियां सजाकर अवैध रूप से कब्जा किया गया है, लेकिन जिन कांपलेक्सों में इसकी बहुतायत है उसमें गायत्री कांपलेक्स क्रमांक-१, गायत्री कांपलेक्स क्रमांक-२, छत्रसाल शॉपिंग कांपलेक्स, सम्राट पृथ्वीराज चौहान शॉपिंग कांपलेक्स, कुशाभाउ ठाकरे शॉपिंग कांपलेक्स मुख्य रूप से शामिल हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned