महुआ फूल चुनने गई किशोरी को माता-पिता के सामने उठा ले गया वन्य प्राणी, उतारा मौत के घाट

परिजन कह रहे बाघ ने हमला कर उतारा मौत के घाट, वन अधिकारी तेंदुआ के हमले से बता रहे मौत, संजय टाईगर रिजर्व क्षेत्र के बफ र जोन बस्तुआ वन परिक्षेत्र अंतर्गत चिन्नी पहाड़ में माता-पिता के साथ महुआ फूल चुनने गई थी किशोरी

By: Manoj Pandey

Published: 18 Apr 2020, 08:03 PM IST

सीधी/पथरौला। जिले के कुसमी थाना अंतर्गत पुलिस चौकी पोड़ी के ग्राम धुपखड़ से लगे जंगल में माता-पिता सहित अन्य परिजनों के साथ महुआ फूल चुनने गई एक 9 वर्षीया किशोरी की वन्य प्राणी के हमले से दर्दनाक मौत हो गई। जिस वन्य प्राणी द्वारा किशोरी पर हमला कर उसे घसीटते हुए ले जाकर मौत के घाट उतार दिया गया उसे मृतिका के परिजन टाईगर बता रहे हैं, सूचना के बाद मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम उसे तेंदुआ बता रही है।
घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक मृतक किशोरी वंदना सिंह पिता इंद्रपाल सिंह 9 वर्ष निवासी ग्राम धुपखड़ रोज की तरह अपने परिजनों के साथ संजय टाईगर रिजर्व के बफर जोन बस्तुआ वन परिक्षेत्र अंतर्गत चिन्नी पहाड़ में महुआ फूल चुनने के लिए घर से तकरीबन दो किलोमीटर दूर शुक्रवार की सुबह गई थी। बताया गया कि महुआ फूल चुनने के दौरान मृतक किशोरी के माता-पिता भी तकरीबन दो मीटर दूर उसी पेड़ के नीचे महुआ फूल बिन रहे थे। इसी बीच सुबह करीब 6 बजे अचानक दबे पैर चुपके से वन्य प्राणी ने हमला कर दिया और लपक कर किशोरी के गले को पकड़ते हुए जंगल की तरफ घसीटकर ले गया। तत्पश्चात माता-पिता के द्वारा हल्ला गुहार करने पर आसपास महुआ फूल बिन रहे ग्रामीण एकत्रित हो गए और आदमखोर जानवर को चारों तरफ से घेर लिया। अपने को चारों तरफ से घिरा देखकर वन्य प्राणी भाग निकला। हलांकि तब तक किशोरी की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि संजय टाईगर रिजर्व के नर बाघ टी-23 का बीते करीब एक पखवाड़े से लोकेशन नहीं मिल रहा है। कयास लगाया जा रहा है कि इसी टाईगर द्वारा ही हमला किया गया होगा। घटना की सूचना पर पीएसआई गंगा सिंह मार्को, चौकी प्रभारी पीडी सोनवंशी सहित संजय टाईगर रिजर्व की टीम घटनास्थल पर पहुंच कर मौका मुआयना करते हुए पंचनामा तैयार किया गया। तदोपरांत शव को पोस्टमार्टम के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पोड़ी ले जाया गया। पोस्टमार्टम उपरांत शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया गया है। जंगल में पेड़ के सूखे पत्ते जमीन पर गिरे होने के कारण हमलावर जानवर के पंजे ट्रेस नहीं किए जा सके हैं। प्रत्यक्षदर्शियों की बात पर गौर करें तो हमला करने वाला जानवर टाईगर था। किंतु संजय टाईगर रिजर्व की टीम घटनास्थल का मुआयना करने के बाद तेंदुए के द्वारा हमला करना मान रही है। हमला जिस भी जानवर के द्वारा किया गया हो लेकिन माता पिता के सामने ही कलेजे के टुकड़े को जानवर घसीट ले गया। इस घटनाक्रम के बाद क्षेत्रीय ग्रामीणों में काफ ी दहशत देखी जा रही है।
सूचना मिलते ही पहुंचे टाईगर रिजर्व के अधिकारी-
बाघ के हमले से किशोरी के मौत की सूचना मिलते ही संजय टाईगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक डॉ.अशोक मिश्रा, संयुक्त संचालक, उप संचालक, एसडीओ जया पांडेय सहित क्षेत्रीय अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया गया। उक्त अधिकारी भी मान रहे हैं कि हमला तेंदुए के द्वारा किया गया है।

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned