मौसम के मिजाज से उल्टी दस्त का बढ़ा प्रकोप

जिला अस्पताल में बढ़ी मरीजों की संख्या, बेड पड़ रहे कम, फैल रही अव्यवस्था, मरीजों के बढऩे से जिला अस्पताल मेें बढ़ रही अव्यवस्थाएं

By: Manoj Pandey

Published: 01 Jul 2019, 09:23 PM IST

सीधी। मौसम में चल रहे उतार चढ़ाव के कारण इन दिनों उल्टी दस्त के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। जिला अस्पताल में लगातार उल्टी दस्त के मरीजों की संख्या बढऩे से अस्पताल में मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड कम पड़ गए हैं, ऐसी स्थिति में जिला अस्पताल के मेल एवं फीमेल मेडिकल वार्ड के साथ ही बरामदे में फर्श पर गद्दे बिछाकर मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। मेडिकल वार्ड में मरीजों की संख्या बढऩे से जिला अस्पताल में व्यवस्थाएं भी प्रभावित हो रही हैं, जहां एक ओर मरीजों की संख्या बढऩे से जिला अस्पताल की सफाई व्यवस्था प्रभावित हो रही है, वहीं नर्सों पर भी कार्य का अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है, विगत दिनों तो जिला अस्पताल के अस्थाई सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से सफाई व्यवस्था पूरी तरह से प्रभावित हो गई थी, और पूरा अस्पताल गंदगी से पट गया था।
प्रतिदिन भर्ती हो रहे 10 से 20 उल्टी दस्त के मरीज-
जिला अस्पताल के मेडिकल वार्ड में कार्यरत नर्सों की बात माने तो पिछले करीब एक सप्ताह से मेडिकल वार्ड में उल्टी दस्त के मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है, प्रति दिन 10 से बीस उल्टी दस्त के मरीज ग्रामीण अंचलों से आकर भर्ती हो रहे हैं। वार्ड में निर्धारित बेड संख्या होने से मरीजों को फर्श पर गद्दे डालकर भर्ती करने की व्यवस्था बनाई जा रही है, अब तो वार्ड में भी जगह नहीं बची है, जिससे बरामदे के फर्श पर गद्दे डालकर उल्टी दस्त सहित अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को भर्ती कर उपचार करना चिकित्सालय प्रबंधन की मजबूरी बनी हुई है।
खान पान का रखना होगा विशेष ख्याल-
जिला अस्पताल के मेडिकल विशेषज्ञों की माने तो वर्तमान समय में मौसम में चल रहे उतार चढ़ाव के कारण लोग उल्टी दस्त की बीमारी से ग्रसित हो रहे हैं। बासी खाना खाने, अशुद्ध पानी पीने से यह बीमारी होती है, इसलिए लोग ज्यादा से ज्यादा प्रयाश करें कि पानी शुद्ध पिएं, बाहर का खाना कम से कम खाने का प्रयाश करें साथ ही बासी या दूषित खाद्य सामग्री खाने से बचें।

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned